Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,596,776
मामले (भारत)
263,226,798
मामले (दुनिया)

हिमाचलियों को विदेशी रहन सहन समझाने में मदद करेगा हिमाचली प्रवासी ग्लोबल एसोसिएशन

भाग्य चंद्रा ने कहा - देश के युवा नौकरी और पढ़ाई को लेकर कर रहे विदेशों का रूख

हिमाचलियों को विदेशी रहन सहन समझाने में मदद करेगा हिमाचली प्रवासी ग्लोबल एसोसिएशन

- Advertisement -

शिमला। दुनिया भर में प्रवासी हिमाचलियों को जोड़ने और उनकी सहायता के उदेश्य से गठित ‘हिमाचली प्रवासी ग्लोबल एसोसिएशन’ अब विदेशों में नौकरीपेशा और अध्ययन के लिए जाने वाले हिमाचलियों को स्थापित करने में भी मदद करेगी। बता दें कि हिमाचल प्रवासी ग्लोबल एसोसिएशन एक गैर-लाभकारी संगठन है। जो कनाडा में उन हिमाचली लोगों की मदद करने के लिए काम कर रही है, जो नौकरीपेशा हैं या अध्ययन के उद्देश्य से आए हुए हैं।

संस्था अप्रवासियों और छात्रों को यहां बसने में भरपूर मदद कर रही है। संस्था यहां आने वाले लोगों को स्थानीय संस्कृति से परिचय करवाती है। कनाडा के आलावा संस्था अन्य देशों में भी विस्तार कर प्रवासी हिमाचलियों को जोड़कर वहां आने वाले हिमाचलियों को अपना सहयोग करेगी। संस्था हिमाचल की संस्कृति और मूल्यों को बढ़ावा देने के साथ प्रवासी भारतीयों के सामाजिक-आर्थिक विकास में सहायता करती है। संस्था हिमाचल के विकास में सामाजिक और आर्थिक रूप से योगदान देगी और स्वास्थ्य, पर्यटन के प्रति जागरूकता अभियान चलाएगी।

यह भी पढ़ें: विंग कमांडर अभिनंदन को मिला वीर चक्र, पाकिस्तान के F-16 को मार गिराया था

संस्था से जुड़े कनाडा के प्रवासी हिमाचली भाग्या चन्द्र ने कहा कि इसके लिए उन्होंने कनाडा और हिमाचल के शीर्ष संगठनों के साथ व्यापक विचार-विमर्श किया है। ताकि नौकरीपेशा और अध्ययन के उद्देश्य से विदेश आने वाले हिमाचलियों को किसी भी प्रकार की परेशानी ना उठानी पड़े। उन्होंने हिमाचल के गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) व सामाजिक कार्य से जुड़े लोगों को इस मुहिम में शामिल होने का निवेदन किया है।

भाग्या चन्द्र का कहना है कि हर साल, विदेशी विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन करने वाले भारतीय छात्रों की संख्या लगातार बढ़ रही है। भारतीय छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए विदेशी देशों की ओर आकर्षित होने का मुख्य कारण पाठ्यक्रमों और करियर विकल्पों की उपलब्धता है। उनका कहना है कि ग्लोबलाइज़ेशन के इस दौर में कामयाबी के लिए इससे वो अलग भाषा और संस्कृति वाले लोगों से तालमेल बिठाना सीखेंगे। मल्टीनेशनल कंपनियों में काम करना उनके लिए आसान होगा। इससे हमें गलोबल सिटिज़न बनने में आसानी होगी। वहीं, युवा एसोसिएशन को [email protected] ईमेल कर अपनी परेशानी बता सकते हैं। साथ ही एसोसिएशन के पेज के जरिए भी अपनी बात पहुंचा सकता हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है