प्रतिभा सिंह ने ऐसी दिखाई अपनी प्रतिभा, कांग्रेस में आ गई नई जान

छह महीने पहले जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी से निभाकर कायम की मिसाल

प्रतिभा सिंह ने ऐसी दिखाई अपनी प्रतिभा, कांग्रेस में आ गई नई जान

- Advertisement -

शिमला। किसी ईमानदार या कर्तव्यनिष्ठ आदमी के सिर पर जिम्मेदारी आ जाए तो वह पूरे तन-मन-धन से निभाता है। यही जिम्मेदारी कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रतिभा सिंह (Pratibha Singh) ने बाखूवी निभाई। छह महीने पहले ही उनको जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उनके सामने चुनौतियां कम नहीं थीं। प्रदेश में तो बीजेपी (BJP) कायम थी पर केंद्र में भी बीजेपी कायम थी। शुरू-शुरू में अंतर्कलह ने परिस्थितियों को पेचीदा कर दिया। इस बीच उन्हें कुछ कड़े फैसले भी लेने पड़े। फिर भी हिम्मत नहीं हारी और पूरी शिद्दत और हिम्मत के साथ मैदान में डटी रहीं। इसी का नतीजा है कि प्रदेश में कांग्रेस (Himachal Congress) की बल्ले-बल्ले हो गई। अगर हम प्रतिभा सिंह के राजनीतिक करियर की बात करें तो छह प्रदेश के सीएम रहे स्व वीरभद्र सिंह की धर्मपत्नी प्रतिभा सिंह 1998 में राजनीति में सक्रिय हुई थीं। उन्होंने पहला चुनाव मंडी संसदीय क्षेत्र से लड़ा था। तब माहेश्वर सिंह (Maheshwar Singh) ने उन्हें करीब सवा लाख मतों से हरा दिया था। महेश्वर सिंह उनके समधी हैं। 1998 में केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनी थी। सरकार 13 माह ही चल पाई थी।

यह भी पढ़ें:29 साल बाद कांग्रेस ने ऊना में बीजेपी के किले को किया ध्वस्त

वर्ष 2014 के आम लोकसभा चुनाव में महेश्वर सिंह को हराया

वहीं 1999 में दोबारा फिर से लोक सभा चुनाव हुआ मगर यह चुनाव उन्होंने नहीं लड़ा। इसके बाद वर्ष 2014 के आम लोकसभा चुनाव में उन्होंने महेश्वर सिंह को हरा दिया। वर्ष 2009 का लोकसभा चुनाव उनके पति स्व वीरभद्र सिंह ने लड़ा। इसके बाद वर्ष 2012 में वीरभद्र सिंह सीएम बन गए और उन्होंने त्यागपत्र दे दिया। वर्ष 2013 में उपचुनाव हुआ और प्रतिभा सिंह तीसरी बार मैदान में उतरीं। तब उन्होंने जयराम ठाकुर को 1.39 मतों से हरा दिया। वहीं 2014 में बीजेपी के रामस्वरूप शर्मा ने उन्हें 39 हजार से अधिक मतों से हरा दिया था। प्रदेश में उस समय कांग्रेस सरकार थी। प्रतिभा सिंह की हार से सब दंग रह गए थे। 2021 में करीब सात साल बाद प्रतिभा सिंह दोबारा चुनावी अखाड़े में उतरीं और जीत दर्ज की। 26 अप्रैल 2022 को हाईकमान ने प्रतिभा सिंह हिमाचल प्रदेश कांग्रेस का 32वां अध्यक्ष बनाया। मंडी उपचुनाव (Mandi by-election) में सत्तारूढ़ सरकार को चारों खाने चित करने वाली पूर्व सीएम दिवंगत वीरभद्र सिंह की पत्नी सांसद प्रतिभा सिंह के सहारे पार्टी हाईकमान ने सत्ता में वापसी की योजना बनाई।

 

हिमाचल की जनता का दिल से आभार: राहुल गांधी

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की जीत के लिए राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने जनता का दिल से आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि मैं हिमाचल की जनता का दिल से धन्यवाद करता हूं और मैं विश्वास दिलवाता हूं कि हिमाचल प्रदेश की जनता से किया गया हर वादा पूरा किया जाएगा। वहीं हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस प्रभारी राजीव शुक्ला चंडीगढ़ पहुंच चुके हैं। उन्होंने मीडिया को बताया कि जीते हुए सभी कांग्रेस विधायकों को चंडीगढ़ बुलाया गया है। अपर और लोअर हिमाचल के सभी विधायकों के लिए चंडीगढ़ सेंटर प्वाइंट है। यहां सभी विधायक आसानी से पहुंच सकते हैं। सीएम का चेहरा कौन होगा इसे लेकर शाम तक हाईकमान फैसला लेगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है