हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

भगवान रघुनाथ की भव्य रथयात्रा के साथ अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा का हुआ आगाज

पीएम मोदी भी इस देव मिलन महाकुंभ के बने गवाह, 11 अक्टूबर तक चलेगा दशहरा उत्सव

भगवान रघुनाथ की भव्य रथयात्रा के साथ अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा का हुआ आगाज

- Advertisement -

कुल्लू। भगवान रघुनाथ की रथयात्रा के साथ अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा (International Kullu Dussehra) का बुधवार को आगाज हो गया। सात दिन तक चले वाले इस दशहरा उत्सव में जिला भर से करीब 250 से अधिक देवी देवता पहुंचे। इस बार पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भी अंतराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव के गवाह बने। दशहरा उत्सव में पहुंचने वाले नरेंद्र मोदी पहले पीएम भी बन गए हैं। पीएम मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर भीड़ के बीच भगवान रघुनाथ के दर्शन करने रथ मैदान में भी गए। यहां उन्होंने करीब 10 मिनट तक भगवान रघुनाथ की रथ यात्रा निहारी। भगवान रघुनाथ (Lord Raghunath) की ओर से पीएम मोदी को फुलों और विल्व के पत्तों की माला भी पहनाई गई। यह माला आमतौर पर भगवान को ही चढ़ाई जाती है। इसके अलावा मोदी को बग्गा, दुपट्टा और प्रसाद भी भेंट किया गया।

यह भी पढ़ें: पहली बार देश के पीएम कुल्लू दशहरा उत्सव पहुंचे, अटल सदन से रथ यात्रा का देखा नजारा

 

 

इस मौके पर खास बात यह रही कि जब तक पीएम मोदी रघुनाथ का आशिर्वाद ले रहे थे, इस दौरान ढालपुर मैदान में ट्रैफिक व्यवस्था संभालने वाले देवता धूमल नाग ने भीड़ को नियंत्रित किया और किसी को भी पीएम मोदी के करीब नहीं जाने दिया। यह नजारा देखने लायक था। इससे पहले दोपहर बाद भगवान रघुनाथ पालकी में सवार होकर लाव-लश्कर और ढोल नगाड़ों की थाप पर रथ मैदान पहुंचे। रथ मैदान में छड़ीबरदार महेश्वर सिंह व राज परिवार के अन्य सदस्यों ने रथ की परिक्रमा की। वहीं हजारों लोगों ने भगवान रघुनाथ के रथ को खींचा और अस्थायी शिविर तक पहुंचाया। सैंकड़ों देवी-देवताओं की मौजूदगी में रघुनाथ अस्थायी शिविर में पहुंचे। भगवान रघुनाथ के साथ ही उत्सव में आए देवी देवता भी अपने अपने अस्थायी शिविरों में विराजमान हो गए हैं।

 

 

यह भी पढ़ें: जय मां नैना देविया री, जय बजिये बाबे री, अज अऊं धन्य होई गेया : पीएम नरेंद्र मोदी

यह दशहरा उत्सव सात दिन यानी 11 अक्टूबर तक चलेगा। सातवें दिन लंका दहन के उपरांत कुल्लू दशहरा में देवी-देवता भगवान रघुनाथ से विदा लेकर अपने देवालय लौटेंगे। रथयात्रा शुरू होने से पहले दशहरा उत्सव में शरीक होने वाले सैकड़ों देवी-देवताओं ने भगवान रघुनाथ के दरबार में हाजिरी भरी। देवी-देवता रघुनाथपुर में ढोल-नगाड़ों की थाप पर पहुंचे। इस दौरान भव्य देवमिलन का नजारा देखने को मिला। ढोल-नगाड़ों, नरसिंगों और करनाल की स्वरलहरियों से रघुनाथ की नगरी गूंज उठी। दशहरा में यह परंपरा है कि जो भी देवता शामिल होते हैं, वे सबसे पहले भगवान रघुनाथ के दरबार में पहुंचते हैं।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है