Covid-19 Update

2,00,832
मामले (हिमाचल)
1,95,254
मरीज ठीक हुए
3,440
मौत
30,028,709
मामले (भारत)
179,981,557
मामले (दुनिया)
×

गुड न्यूजः #Himachal के इस जिला में आवारा कुत्ता गोद लेने पर मुफ्त मिलेगा LPG सिलेंडर

प्रशासन इन गोद लिए कुत्तों को मुफ्त में लगाएगा एंटी रेबीज़ का टीका और करेगा बन्ध्याकरण

गुड न्यूजः #Himachal के इस जिला में आवारा कुत्ता गोद लेने पर मुफ्त मिलेगा LPG सिलेंडर

- Advertisement -

केलांग। हिमाचल के केलांग (Kelong) में अब एक आवारा कुत्ता गोद लेने पर प्रशासन की ओर से एक एलपीजी गैस सिलेंडर प्रतिवर्ष मुफ्त प्रदान किया जाएगा। यही नहीं इन कुत्तों को प्रशासन फ्री में एंटी रेबीज़ के टीके भी लगाएगा और बन्ध्याकरण (Sterilization) भी किया जाएगा, ताकि इनकी जनसंख्या पर नियंत्रण किया जा सके। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। यह बात डीसी पंकज राय (DC Pankaj Roy) ने आवारा कुत्तों को गोद लेने के कार्यक्रम को लागू करने तथा इसमें जनभागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से कमेटी का गठन करने के दौरान दी। उन्होंने बताया कि मानव और कुत्ते के बीच संघर्ष के कारण जो परेशानियां हमें देखने को मिलती हैं, उनका समाधान आवारा कुत्तों को गोद लेने की नीति (Stray Dog Adoption Scheme) को अपनाकर बड़ी आसानी से किया जा सकता है। इसके लिए नगर परिषद शिमला (Shimla) की तर्ज पर एक आवारा कुत्ता गोद लेने की नीति बनाई गई है, जोकि दो तरह से कुत्तों को अपनाने (गोद लेने) का विकल्प देती है। एक तो व्यक्तिगत रूप से एक कुत्ते को गोद लिया जा सकता है। व्यक्तिगत रूप से कुत्ता गोद लेने वाले व्यक्ति को प्रशासन की ओर से एक एलपीजी सिलेन्डर (LPG cylinder) प्रतिवर्ष मुफ़्त प्रदान किया जाएगा तथा इसके लिए सभी अधिकारी आर्थिक रूप से योगदान करेंगे। इन कुत्तों को मुफ़्त में एंटी रेबीज़ टीकाकरण तथा बन्ध्याकरण किया जाएगा ताकि इनकी जनसंख्या पर नियंत्रण किया जा सके।

यह भी पढ़ें: इस कपल ने मंदिर में की शादी, दोस्तों-रिश्तेदारों को नहीं आवारा कुत्तों को दी दावत

 


 

दूसरी ओर सामुदायिक (Community)रूप से भी कुत्तों को गोद लिया जा सकता है, जिसमें कि कोई भी संगठन, व्यापार मंडल अथवा महिला मंडल व युवक मंडल आदि सिर्फ़ इतना सुनिश्चित करेंगे कि किसी निर्धारित स्थान पर कुत्तों के लिए खाना व पानी मिलता रहे, ताकि वे अन्य स्थानों पर गंदगी ना फैलाएं। भविष्य में इन कुत्तों के लिए आश्रय स्थल बनाएं जाएंगे। डीसी पंकज राय ने बताया कि कुत्तों को गोद लेने के इस कार्यक्रम को लागू करने तथा इसमें जनभागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से एक कमेटी (Committee) का गठन किया गया है जो इस कार्यक्रम के सफ़ल क्रियान्वयन के लिए कार्य करेगी। इस कमेटी में उपमंडलाधिकारी केलांग व उदयपुर तथा एडीएम काज़ा की अध्यक्षता में सदस्य सचिव उप निदेशक पशुपालन विभाग, खंड विकास अधिकारी होंगे। कमेटी की बैठक मासिक रूप से होगी। पंकज राय ने कहा कि पशुपालन विभाग शीघ्र ही सर्वेक्षण कर के आवारा कुत्तों की सही संख्या से संबंधित जानकारी कमेटी के समक्ष प्रस्तुत करेगा।

प्रशासन चलाएगा एनिमल वर्थ कंट्रोल कार्यक्रम चलाया

अगले वर्ष एनिमल बर्थ कंट्रोल (एबीसी) कार्यक्रम (Animal birth control Program) चलाया जाएगा, जिसमें सभी कुत्तों का बन्ध्याकरण किया जाएगा, ताकि कुत्तों के जन्म पर नियंत्रण हो सके। उन्होंने बताया कि ज़िले में सभी पालतू कुत्तों का पंजीकरण (Dog registration) करना भी आवश्यक होगा। उन्होंने लोगों से भी कुत्तों को गोद लेने का आह्वान किया है, ताकि इससे क्षेत्र साफ़ सुथरा रहेए कुत्तों की देखभाल के साथ साथ उनकी संख्यावृद्धि पर भी नियंत्रण किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें: गजब ! America के इस शहर में #Election जीतकर कुत्ता बन गया मेयर

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है