×

किसानों के समर्थन में आए #चिपको_आंदोलन के लीडर सुंदरलाल, पूर्व मंत्री तिलकराज भी धरने पर बैठे

पूर्व विधायक अंबरीष कुमार बोले - मोदी सरकार को किसानों के बलिदान की कीमत चुकानी होगी

किसानों के समर्थन में आए #चिपको_आंदोलन के लीडर सुंदरलाल, पूर्व मंत्री तिलकराज भी धरने पर बैठे

- Advertisement -

देहरादून। नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन 23वें दिन में प्रवेश कर गया है।अब किसानों के समर्थन में और लोग भी जुड़ने लगे हैं। चिपको आंदोलन (Chipko movement ) के प्रणेता सुंदरलाल बहुगुणा भी किसान आंदोलन के समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने कहा कि वह अन्नदाताओं की मांगों का समर्थन करते हैं। वहीं, रुद्रपुर के गाजीपुर बॉर्डर में चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे। वह किसानों के साथ धरने पर बैठे और कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की।


यह भी पढ़ें: #Farmers_Protest : कृषि कानूनों पर किसानों के सुझाव मानने को तैयार है मोदी सरकार – गडकरी

वहीं, पूर्व विधायक अंबरीष कुमार ने कहा कि नए कृषि कानून (Agricultural law) किसान की मौत का वारंट बन गए हैं। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के लिए संत बाबा राम सिंह की शहादत दिल दहलाने वाली है। अभी तक 20 से अधिक किसान आंदोलन के दौरान अपनी जान दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार को किसानों के बलिदान की राजनीतिक कीमत चुकानी होगी।

यह भी पढ़ें: #FarmersProtest : किसान बोले – मांगें पूरी होने तक नहीं जाएंगे वापस, Tikri Border पर एक और की मौत

पूर्व विधायक अंबरीष कुमार ने कहा कि किसान आंदोलन विश्व के इतिहास में सर्वाधिक अनुशासित, व्यवस्थित और सुविधा संपन्न आंदोलन है। हाड़ कंपा देने वाली ठंड में भी किसान देश की स्वतंत्रता और खुद्दारी को बचाने के लिए लड़ रहा है। दूसरी तरफ मोदी सरकार देश के स्वाभिमान और गौरव को अडानी और अंबानी को बेचने में लगी है। उन्होंने कहा कि सेवा के सभी क्षेत्र पर मोदी सरकार (Modi government) की वजह से यह कब्जा कर चुके हैं, अब इनकी गिद्ध दृष्टि कृषि क्षेत्र पर है। अंबरीष कुमार ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था डूब रही है, बेरोजगारी चरम पर है, लेकिन अडानी और अंबानी की दौलत तीन गुना से अधिक बढ़ चुकी है। बीजेपी कृषि कानूनों के समर्थन में हुए आयोजनो से यह समझ गई होगी कि उसके पांव के नीचे से धरती खिसक रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है