×

तीरंदाजी में जीत चुकी Gold Medal, आज खेल छोड़ पकौड़े बेचने को मजबूर ममता

लॉकडाउन में घऱ लौटने के बाद दोबारा नहीं जा पाई ट्रेनिंग लेने

तीरंदाजी में जीत चुकी Gold Medal, आज खेल छोड़ पकौड़े बेचने को मजबूर ममता

- Advertisement -

प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती ये तो आपने सुना होगा, लेकिन कई बार हालात के आगे लोग मजबूर हो जाते हैं। हमारे देश में ऐसे कई लोग हैं जो बहुत कुछ करने का दम रखते हैं लेकिन उनके हालात और परिस्थितियां (Circumstances) उनको आगे बढ़ने से रोकती हैं। कई बार हालात इतने बिगड़ जाते हैं कि इंसान को अपना पैशन और सपना छोड़कर रोजी-रोटी कमाने के लिए ऐसा काम करना पड़ता है जो वो सपने में भी करने की नहीं सोच सकता। गरीबी और तंगहाली के चलते कई एथलीट और स्पोर्ट्सपर्सन भी खेल छोड़कर जीविका के दूसरे साधन तलाशने में जुट जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ तीरंदाजी में गोल्ड मेडल (Gold Medal in Archery) हासिल कर चुकी ममता के साथ।


यह भी पढ़ें: ऑटो पर बना दिया आलीशान घर, बिजनेसमैन आनंद महिन्द्रा भी हुए दीवाने, शेयर की फोटो

 

 

धनबाद (Dhanbad) के तेलीपाड़ा इलाके की रहने वाली 13 साल की ममता अंडर-13 तीरंदाजी में गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं लेकिन इन दिनों उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और वह परिवार को सपोर्ट करने के लिए झालमुड़ी और पकौड़े बेच रही है। ममता पिछले साल वह सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर आर्चरी में ट्रेनिंग ले रही थी तभी लॉकडाउन लग गया। लॉकडाउन में लौटने के बाद वह दोबारा वापस नहीं जा सकीं।

यह भी पढ़ें: आसमान में उड़ते हुए Girlfriend को शादी के लिए किया प्रपोज, देखिए कैसा था लड़की का रिएक्शन

ममता का कहना है, मैं अंडर-13 में गोल्ड जीत चुकी हूं। नेशनल चैंपियनशिप में फर्स्ट आई हूं, साथ ही कई और खेलों में हिस्सा ले चुकी हूं। विपरीत हालातों में किसी ने मदद नहीं की तो खेल रुक गया। घर की हालत लगातार बिगड़ रही है ऐसे में वो दुकान पर पकौड़े बेचने लगी।’ ममता ने बताया कि वह रोजाना 100-200 रुपए की कमाई ही कर पाती हैं। इससे उनका घर किसी तरह चलता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है