Covid-19 Update

2,2,003
मामले (हिमाचल)
2,22,361
मरीज ठीक हुए
3,830
मौत
34,572,523
मामले (भारत)
261,511,846
मामले (दुनिया)

ये है दुनिया का सबसे जहरीला पेड़, जिसे मौत का दूसरा नाम कहा जाता है

हर हिस्से में इतना जहर है कि लोगों के बचने का चांस बिल्कुल ना के बराबर होता है

ये है दुनिया का सबसे जहरीला पेड़, जिसे मौत का दूसरा नाम कहा जाता है

- Advertisement -

नई दिल्ली। पेड़-पौधों को जीवनदायी बताया गया है। वेद और पुराणों में पेड़ पौधे के औषधिय गुणों की विवेचना की गई है। 21 वीं सदी में पेड़ पौधे को लेकर सजग रहने की बात कहते हैं। पेड़ पौधों से पौषक तत्व प्राप्त होते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि एक ऐसा ही एक पेड़ भी है, जो बेहद जहरीला है। इस पेड़ का नाम है मैंशीनील।

यह भी पढ़ें: मेघालय के इस गांव में अंग्रेजी शब्दों में रखते हैं बच्चों का नाम, कारण जान हो जाएंगे हैरान

मैंशीनील नामक यह पेड़ फ्लोरिडा और कैरेबियन सागर बीच तटों पर पाया जाता है। इसके बारे में कहा जाता है कि यह इतना जहरीला होता है कि अगर कोई इंसान इसके संपर्क में आ जाए तो उसके शरीर पर छाले पड़ जाते हैं। इस पेड़ का हर हिस्सा जहरीला है लेकिन इसका फल सबसे ज्यादा जहरीला माना जाता है। अगर कोई इंसान इस फल का एक टुकड़ा भी खा ले तो उसकी मौत हो सकती है। इसके चलते मैंशीनील के फल को मौत का दूसरा नाम कहा जाता है। वहीं, बारिश के समय पेड़ से गिरती बूंद अगर किसी की आंख पर आ जाए, तो उसकी आंखें खराब हो सकती हैं।

इसी कारण लोगों को इस पेड़ के संपर्क में आने से रोकने और इसके फलों को खाने से रोकने के लिए पेड़ों के आस-पास बोर्ड भी लगाए गए हैं। जिसमें इस पेड़ के जहरीले होने और इससे दूर रहने की चेतावनी दी गई है।

निकोला एच स्ट्रिकलैंड नाम के एक वैज्ञानिक के अनुसार, एक बार वे और उनके कुछ दोस्तों ने टोबैगो के कैरेबियन आइलैंड के बीच पर थे। वहां उन्होंने इस फल को खा लिया था। इसका स्वाद बेहद ही कड़वा था। वे बताते हैं कि इस पेड़ के फल खाने के कुछ समय बाद ही उन्हें जलन होने लगी और शरीर में सूजन आ गई। हालांकि, तुरंत ही इलाज मिला जाने से उनकी हालत ठीक हो गई।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है