Covid-19 Update

1,37,766
मामले (हिमाचल)
1,02,285
मरीज ठीक हुए
1965
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

ये डिवाइस तोड़ सकता है कोरोना चेन! सोशल डिस्टेंसिंग ना होने पर ये ब्रेसलेट बरसाएगा डंडे

मेरठ के इस छात्र की पीएम नरेंद्र मोदी भी कर चुके हैं तारीफ

ये डिवाइस तोड़ सकता है कोरोना चेन! सोशल डिस्टेंसिंग ना होने पर ये ब्रेसलेट बरसाएगा डंडे

- Advertisement -

कोरोना का कहर लगातार बरस रहा है। सरकारें परेशान है कि कैसे इस दूसरी लहर (Corona Second Wave) को और ज्यादा भयावह रूप लेने से रोका जाए। सरकार लगातार सोशल डिस्टेंसिंग की अपील भी की जा रही है। हालांकि लोग सरकार और चुनावी रैलियों के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग ना होने पर भी सवाल उठा रहे हैं। इस बीच बीटेक छात्र ने एक ऐसा डिवाइस तैयार किया है जो सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing Device) का पालन ना करने पर लोगों को ऐसा एहसास होगा जैसे किसी ने उन पर किसी डंडे बरसा दिए हों।


यह भी पढ़ें: देख लीजिए हालात! कार में ऑक्सीजन सिलेंडर, कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग को नहीं मिला बेड

जी हां, उत्तर प्रदेश के मेरठ में बीटेक के छात्र (B-Tech Student) का दावा है कि यदि इस डिवाइस को लगाना भी सभी के लिए जरूरी कर दिया जाए तो कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकता है। छात्र का कहना है कि जिस तरह देश के सभी लोगों को मास्क (Mask) पहनना जरूरी किया गया है ठीक उसी तरह सोशल डिस्टेंस (Social Distancing) मेंटेन करने यह डिवाइस भी पहनना भी जरूरी किया जाए। छात्र का यह भी कहना है कि इस डिवाइस का इस्तेमाल यदि शुरू कर दिया जाता है तो 15 दिन के भीतर कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: कोरोना का बड़ा अटैक, दो लाख नए मामले-1037 मौतें,ऑक्सीजन की कमी

इस डिवाइस को मेरठ (Meerut) के पुनीत उपाध्याय ने बनाया है। पुनीत (Puneet) डीआईईटी में बीटेक इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन (Electronics & Communication) थर्ड ईयर के स्टूडेंट हैं। पुनीत का कहना कि यह डिवाइस एक तरीके का ब्रेसलेट (Bracelet) है। इस डिवाइस को अगर देश की सभी लोग पहनें तो कोरोना को मात दी जा सकती है। पुनीत ने इस डिवाइस को कोरोना सोशल डिस्टेंसिंग इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस का नाम दिया है। पुनीत का कहना है कि विशेषज्ञों का कहना है की मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग (Masks and Social Distancing) के जरिए कोरोना को मात दी जा सकती है।

क्या है डिवाइस का खर्च
इस डिवाइस को बनाने वाली बीटेक छात्र (B-Tech Student) पुनीत का कहना है कि डिवाइस पर खर्च 100 रुपए के करीब है जो अधिक नहीं है। पुनीत (Puneet) चाहते हैं कि उसकी डिवाइस की चर्चा भी सरकार तक पहुंचे और सरकार (Govt) इसे अनिवार्य बनाए। पुनीत इससे पहले भी कई डिवाइस बना चुके हैं। आपको बता दें कि पीएम मोदी भी ट्विट (PM Modi Tweet) कर पुनीत की तारीफ कर चुके हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है