Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,417,390
मामले (भारत)
228,533,587
मामले (दुनिया)

घर जाने की मजबूरीः बस में 600 रुपए किराया देकर Pathankot गए प्रवासी मजदूर

घर जाने की मजबूरीः बस में 600 रुपए किराया देकर Pathankot गए प्रवासी मजदूर

- Advertisement -

धर्मशाला। कोरोना (Corona) अभी क्या-क्या रंग दिखाएगा, यह किसी को पता नहीं है, लेकिन लॉकडाउन के चलते लंबे अरसे से धर्मशाला फंसे प्रवासी मजदूरों की बेबसी और निजी बस ऑपरेटरों की मजबूरी यहां देखने को मिली है। कोरोना की मार देखें, घर जाने की लालसा के चलते प्रवासी मजदूरों को बस में प्रति व्यक्ति 600 रुपए किराया अदा करना पड़ा है। वहीं, ज्यादा किराया वसूल करना कोरोना संकट के चलते ज्यादा सवारियों नहीं बिठा पाने के चलते प्राइवेट बस ऑपरेटर की मजबूरी है।

यह भी पढ़ें: सुंदरनगर में 47 कोरोना योद्धाओं के लिए Sample, आज शाम आएगी Report

कोरोना संकट के बीच करीब डेढ़ माह से सरकारी और निजी बसें नहीं चल रही हैं। ऐसे में एचआरटीसी (HRTC) सहित प्राइवेट बस चालकों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। हालांकि सरकार ने प्राइवेट बसों को स्पेशल रोड टैक्स सहित अन्य टैक्सों में छूट दी है, ताकि इस संकट में बस ऑपरेटरों को राहत मिल सके। लेकिन, कुछ निजी बस ऑपरेटरों (Bus Operators) के लिए कांगड़ा (Kangra) में फंसे प्रवासी मजदूर कुछ राहत लेकर आए हैं। धर्मशाला से आज भी एक निजी बस धर्मशाला में फंसे छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के 26 मजदूरों को छोड़ने पठानकोट (Pathankot) तक गई। प्रति मजदूर 600 रुपए किराया लिया गया है। हालांकि धर्मशाला से पठानकोट करीब 160 रूपए लगते हैं, लेकिन कोरोना के इस संकट में बस में 26 से ज्यादा सवारियां नहीं बिठाई जा सकती हैं। ऐसे में प्रति मजदूर किराया 600 रुपए लिया जा रहा है। पिछले करीब चार माह से यहां फंसे मजदूरों को तो यह किराया अदा करना ही होगा। क्योंकि इन्हें घर तो जाना है।

यह भी पढ़ें: Big Breaking – दिल्ली से पांवटा लौटी मां-बेटी निकली Corona Positive, बाप-बेटे के सैंपल भी लिए जाएंगे

यह निजी बस पठानकोट तक ही मजदूरों को छोड़ेगी। आगे उनके घर जाने की क्या व्यवस्था है। इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है। क्योंकि ट्रेन तो चल नहीं रही हैं। हालांकि बस में जाने वाले एक मजदूर ने कहा कि पठानकोट से वे बसों से जाएंगे। बस में जा रहे छत्तीसगढ़ के मजदूर राम किशन ने बताया कि प्रति व्यक्ति 600 रुपए लिए गए हैं। धर्मशाला से निजी बस में पठानकोट तक जाएंगे। पठानकोट से बस में अपने घर के लिए निकलेंगे। वहीं, बस चालक ने 600 रूपए किराया वसूल किए जाने से अनभिज्ञता जताई।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है