हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी हुई विदेशी परिंदों से गुलजार, अब तक 21 हजार पहुंचे

साढ़े पांच हजार से अधिक स्थानीय पक्षी भी पहुंचे, विभाग ने शिकारियों पर रख रहा नजर

पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी हुई विदेशी परिंदों से गुलजार, अब तक 21 हजार पहुंचे

- Advertisement -

पंकज नरयाल, धर्मशाला। सर्दियों के आगमन के साथ ही वॉटर डिपेंडेंट विदेशी परिंदों ने पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी (Pong Dam Wildlife Sanctuary) में डेरा जमाना शुरू कर दिया है। अब तक की बात करें तो 21 हजार से अधिक विदेशी परिंदे पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी में पहुंच चुके हैं। इसके अतिरिक्त साढ़े पांच हजार से अधिक स्थानीय परिंदें भी सेंक्चुरी एरिया पहुंच चुके हैं। सबसे अधिक विदेशी परिंदे बुहल खडड से चाटटा वॉच में देखे जा सकते हैंए जबकि स्थानीय परिंदों की सबसे अधिक संख्या देहरा ब्रिज से लेकर डाडा खड्ड तक देखी जा सकती है। सर्दियों में कई देशों में बर्फबारी होने के चलते भोजन की तलाश में विदेशी परिंदे (Foreign Birds) पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी का रुख करते हैं। वन्य प्राणी विभाग (Wildlife Department) के अनुसार 16 नवंबर तक पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी में 21473 विदेशी परिंदे, जबकि 5898 स्थानीय परिंदे पहुंच चुके हैं।

यह भी पढ़ें:कांगड़ा एयरपोर्ट विस्तार की कवायद शुरू, केंद्र की टीम तीन दिन करेगी मुख्य बिंदुओं पर काम

इन प्रजातियों के पहुंचे हैं विदेशी परिंदे

पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी में अब तक ग्रेबस, कोरमोरेंटस एंड डारटर, हेरोन्स, एगरेटस और बिटरनस, स्टॉरक्स, गीजे एंड डक्स, रैलस, गैलीन्यूलस एंड कूट, शोरेबर्डस- वेडर्स, गल्स, टर्नस एंड स्कीमेर्स, हॉक्स, इगलस, ऑसप्रे एंड फालकॉन्स, वैगटेलस एंड पीपीटस, लारक्स, ब्यू थरोट, मालकोहा, केसट्रल और होबी प्रमुख प्रजातियों के विदेशी परिंदे पहुंच चुके हैं। जबकि इन प्रजातियों की अन्य प्रजातियां भी यहां पहुंची हैं। इसके अतिरिक्त स्थानीय 60 से अधिक प्रजातियों के परिंदे भी इन दिनों सेंक्चुरी एरिया में आ चुके हैं।

किन प्रमुख एरिया में आते हैं परिंदे

पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी में ज्वाली, नगरोटा सूरियां, भटोली फकोरियां, देहरा, धमेटा बीट, पौंग डैम बीट, संसारपुर टैरस बीट, डाडासीबा बीट प्रमुख हैं, जहां विदेशी व देश के अन्य राज्यों में पाए जाने वाले परिंदे पहुंचते हैं।

pong-dam

pong-dam

किस एरिया में कितने परिंदे

ज्वाली बेल्ट के बुहल खडड से देहरी खडड तक 3484 विदेशी और 704 स्थानीय, देहरी खडड से गज खडड में 1195 विदेशी व 233 स्थानीय, गज खडड से जटां दा नाला में 3011 विदेशी व 537 स्थानीय, रैंसर में 120 विदेशी व 59 स्थानीय, जटां दा नाला से लेकर बनेर खडड तक 691 विदेशी व 525 स्थानीय, बनेर खडड से डोला नाला तक 541 विदेशी व 144 स्थानीय, डोला नाला से देहरा तक 381 विदेशी व 196 स्थानीय, देहरा ब्रिज से डाडा खडड तक 1451 विदेशी व 838 स्थानीय, बुहल खडड से चाटटा वॉच तक 3448 विदेशी व 634 स्थानीय, चाटटा से पीर बाबा तक 3364 विदेशी व 183 स्थानीय, धमेटा से पौंग डैम तक 1631 विदेशी व 252 स्थानीय, घाटी से शाहनहर बैरेग तक 538 विदेशी व 429 स्थानीय, शाहनगर बैरेग से स्थाना तक 1074 विदेशी व 897 स्थानीय, पौंग डैम से स्यूल खडड तक 196 विदेशी व 127 स्थानीय और स्यूल खडड से डाडा खडड तक 347 विदेशी व 140 स्थानीय परिंदे इन दिनों विचरण कर रहे हैं।

पक्षी प्रेमी भी करने लगे सेंक्चुरी का रुख

विदेशी परिंदों के आगमन के साथ ही सेंक्चुरी एरिया में पक्षी प्रेमियों (Bird Lovers) और बर्ड वॉचर्स की आमद भी बढऩे लगती है। अभी पक्षियों की आमद शुरू हुई है, ऐसे में पक्षी प्रेमी भी सेंक्चुरी का रुख करने लगे हैं। पौंग डैम में आयोजित किए जाने वाले बर्ड फेस्टीवल में भी काफी संख्या में पक्षी प्रेमी और पक्षियों को देखने की चाहत रखने वाले लोग पहुंचते हैं।

क्या कहते हैं अधिकारी

चीफ कंजरवेटर आफ वाइल्ड लाइफ सर्कल धर्मशाला उपासना पटियाल ने बताया कि पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी एरिया में इस साल पहुंचे विदेशी परिंदे अच्छी हेल्थ में हैं। विभाग द्वारा अब तक जो गणना की गई है, उसके अनुसार अभी तक पौंग डैम वाइल्ड लाइफ सेंक्चुरी एरिया में 27371 परिंदे पहुंचे हैं, जिनमें 21473 विदेशी और 5898 स्थानीय परिंदे पहुंचे हैं जो कि पानी पर निर्भर होते हैं और पानी के आसपास पाए जाते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है