Covid-19 Update

2,63,914
मामले (हिमाचल)
2, 48, 802
मरीज ठीक हुए
3944*
मौत
40,085,116
मामले (भारत)
360,446,358
मामले (दुनिया)

मंडी से नव निर्वाचित सांसद प्रतिभा सिंह और पूर्व हिमाचल कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने शपथ ली

प्रतिभा सिंह ने अंग्रेजी में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली

मंडी से नव निर्वाचित सांसद प्रतिभा सिंह और पूर्व हिमाचल कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने शपथ ली

- Advertisement -

नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट से नवनर्वाचित सांसद व पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की पत्नी ने संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन अंग्रेजी मे पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। इस दौरान उनके बेटे व शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह भी मौजूद रहे। बता दें कि आज पूर्व हिमाचल कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने भी पद एवं गोपनीयता की शपथ ली।

बता दें कि प्रतिभा सिंह ने साल 1998 में सक्रिय राजनीति में कदम रखा था। उन्होंने पहला चुनाव मंडी संसदीय सीट से लड़ा था। तब वे बीजेपी नेता महेश्वर सिंह से करीब सवा लाख मतों के अंतर से चुनाव हार गई थीं। खास बात यह है कि महेश्वर सिंह रिश्ते में उनके समधी लगते हैं।

यह भी पढ़ें: संसद के पहले दिन विपक्ष ने किया हंगामा, सदन की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित

तब 1998 में केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनी थी। सरकार 13 माह ही चल पाई थी। 1999 में लोकसभा का दोबारा चुनाव हुआ था। प्रतिभा सिंह ने यह चुनाव नहीं लड़ा था। मगर 2004 के आम लोकसभा चुनाव में प्रतिभा एक दफा फिर कूदी। और इस बार अपने समधी से हार का बदला लिया। वहीं, पहली बार संसद भवन पहुंची। इसके बाद उन्होंने 2009 में मंडी संसदीय सीट से चुनाव नहीं लड़ा, तब वीरभद्र सिंह ने कांग्रेस की टिकट पर चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे।

मगर 2012 में प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद वे दिल्ली से शिमला की ओर अपना रूख किया और मुख्यमंत्री बने। फिर रिक्त सीट पर उपचुनाव में एक बार फिर प्रतिभा सिंह खड़ी हुईं, तब उनके सामने वर्तमान सीएम जयराम ठाकुर बीजेपी की तरफ से चेहरा बनकर सामने आए। मगर एक बार फिर हॉलीलॉज का तिलिस्म बरकार रहा।

जयराम ठाकुर को करीब 1.39 लाख मतों से शिकस्त देकर दूसरी बार संसद सदस्य निर्वाचित हुईं। इसके साल भर बाद 2014 में लोकसभा चुनाव हुआ था। मोदी लहर में बीजेपी के रामस्वरूप शर्मा ने उन्हें 39 हजार से अधिक मतों से पराजित किया था। प्रदेश में उस समय कांग्रेस सरकार थी। प्रतिभा सिंह की हार से सब दंग रह गए थे। इस बार करीब सात साल बाद प्रतिभा सिंह दोबारा चुनावी अखाड़े में उतरी थीं और दो नवंबर को घोषित चुनाव नतीजों में जीत दर्ज की।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है