हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

पेशे से अकाउंटेंट नीला रेनविकर ने बिना मिट्टी उगा डाले पौधे, लोग बोले वाह !

घर की छत पर बनाए गए खेत में उगाई हैं फल, फूल और सब्जियां

पेशे से अकाउंटेंट नीला रेनविकर ने बिना मिट्टी उगा डाले पौधे, लोग बोले वाह !

- Advertisement -

आजकल कई प्रकार से खेती की जा रही है। आपने खेती करने के लिए हर तकनीक के बारे में सोचा होगा। पर आपने यह शायद ही कभी सुना होगा कि बिना मिट्टी के भी खेती (Farming without Soil) की जा सकती है। लेकिन इस असंभव चीज को भी पुणे की रहने वाली एक महिला (Women) ने संभव बना डाला है। उसने अपने घर की छत पर ही एक हरा-भरा खेत (Green Farm) बना डाला है। यहां फल-फूल से लेकर सब्जियां (vegetables) तक उगा रखी हैं। मगर इससे भी बड़ी बात है कि इसके लिए मिट्टी का प्रयोग नहीं किया गया है। अब आपके मन में अचरज होगा कि आखिर किस तरह से इस महिला ने इस काम को संभव बना डाला तो आइए आज आपको बताते हैं कि यह कौन से तकनीक अपनाती है।

यह भी पढ़ें:दुनिया का सबसे बड़ा फूल, 40 साल की आयु में खिलता है सिर्फ चार बार

पुणे की रहने वाली इस महिला का नाम नीला रेनविकर है और यह पेशे से अकाउंटेंट है। वह मैराथन रनर (Marathon Runner) भी रह चुकी है। मगर इन सबसे हट कर इन दिनों नीला रेनविकर अपनी इस नायाब खेती के लिए चर्चा में है। वह पिछले दस सालों से अपने घर की छत पर खेती कर रही है। उसने वहां तरह-तरह की चीजें उगाई हैं। मगर इन सबमें सबसे खास बात यह है कि वह पिछले दस सालों से बिना मिट्टी के पेड़-पौधों को पोषण दे रही है। यह सबसे अनोखी बात है। इसके लिए नीला ने 450 स्क्वेयर फीट एरिया (450 square feet area) में एक खेत बनाया हुआ है। इसमें फल, फूल और सब्जियां आदि उगाई हैं। मगर गमलों में मिट्टी का उपयोग नहीं किया गया है।

इसकी जगह उसने सूखे पत्ते, किचन वेस्ट और गोबर से कंपोस्ट तैयार किया है। इसी से वह नायाब खेती कर रही है। नीला ने बताया कि उसे गार्डनिंग (Gardening)  का बहुत ही ज्यादा शौक है। बिना मिट्टी से पौधे उगाना उसने यूट्यूब से सीखा है। उसने बताया कि कंपोस्ट खाद की वजह से पौधे स्वस्थ तो रहते ही हैं वहीं केंचुओं के लिए भी अच्छा माहौल बनता है। ये केंचुए पैदावार बढ़ाने में मदद करते हैं। बिना मिट्टी के पेड़ पौधे उगाने के अलावा नीला तरह.तरह से अपने घर की छत पर पेड़ पौधे लगाती है। उन्होंने अपने किचन गार्डन के लिए 100 डिब्बों का इस्तेमाल किया है और इन डिब्बों में वह अलग अलग फल सब्जियां उगाती है। सोशल मीडिया पर उनका ऑर्गेनिक गार्डनिंग (Organic Gardening) नाम का एक पेज भी है। जिस पर वह अपने किचन गार्डन के कइयो फोटो और वीडियो शेयर करती रहती हैं और हजारों लोग उन्हें फॉलो भी करते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है