Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

बिना परमिशन के Sabji Mandi अपने उत्पाद पहुंचा सकते हैं किसान-बागवान

बिना परमिशन के Sabji Mandi अपने उत्पाद पहुंचा सकते हैं किसान-बागवान

- Advertisement -

कुल्लू। पूरे देश में लॉक डाउन( Lock down) के कारण प्रदेश के किसानों की फसलें बड़े पैमाने पर खेतों में ही खराब हो गई है, जिसके लिए प्रदेश सरकार ने किसानों के हुए नुकसान की रिपोर्ट तैयार करने में जुट गई है। प्रदेश सरकार प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए विचार कर रही है इस आश्य की जानकारी कृषि मंत्री राम लाल मार्कंडेय( Agriculture Minister Ram Lal Markanda) ने दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसान, बागवानों को प्रदेश के अंदर व बाहरी राज्यों की मंडियों में उत्पाद ले जाने के लिए परमिशन लेने की जरूरत नहीं है। ऐसे में किसानों -बागवानो को किसी भी जिला डीसी के ऑफिस में परमिशन लेने के लिए चक्कर काटने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहाकि प्रदेश के कई जिला में किसानों की मटर, गोभी,आलू के अन्य फसलें तैयार हो गई है जिससे प्रदेश की सभी मंडियो में किसानों के उत्पाद पहुंचे इसके लिए सरकार ने किसानों, बागवानों की तैयार फसलों को देखते हुए उचित प्रबंध किए है।

ये भी पढ़ेः कश्मीरी मजदूरों की घर वापसी, Social Distancing की जमकर उड़ी धज्जियां


मार्कंडेय कहा कि सीएम जय राम ठाकुर के दिशा निर्देशों के अनुसार किसानों के लिए कर्फ्यू के चलते विशेष प्रावधान किया है। प्रदेश के किसान बाहरी राज्यों की मंडियों में उत्पाद बेचने के बिना परमिशन जा सकते है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिमला, सिरमौर ,मंडी व कुल्लू जिला में ओलावृष्टि और लॉकडाउन के चलते कई सब्जियों की डिमांड न होने के कारण आइस-बर्ग और ब्रोकली की फसल खेतों में बड़े पैमाने पर खराब हो गई है जिसके लिए सीएम जय राम ठाकुर से किसानों, बागवानों को राहत देने के लिए बात की गई है। सीएम ने किसानों, बागबानों के भारी नुक्सान की रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए है जिससे कृषि विभाग के अधिकारियों के माध्यम से विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर सीएम जय राम ठाकुर को प्रेषित की जाएगी। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू के चलते प्रदेश में किसानों विभिन्न प्रकार की सब्जियों की पनीरी तैयार कर रखी थी, जिनके लिए गाड़ियों की परमिशन देकर किसानों को घर-घर पनीरी पहुंचाई जा रही है, जिससे किसानों को फसल लगाने के लिए परेशानियों का सामना न करना पड़े इसके लिए उचित व्यवस्था की है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है