हिमाचल में यहां बन रहा था पतंजलि के नाम पर नकली घी, फैक्ट्री का हुआ भंडाफोड़; एक धरा

सोलन के परवाणू में नकली घी बनाकर बेच रहे थे शातिर पुलिस ने शुरू की कार्रवाई

हिमाचल में यहां बन रहा था पतंजलि के नाम पर नकली घी, फैक्ट्री का हुआ भंडाफोड़; एक धरा

- Advertisement -

सोलन। हिमाचल के सोलन जिला में पतंजलि (Patanjali) के देसी घी के डिब्बे की तरह ही हूबहू पैकिंग तैयार कर नकली घी बेचने का मामला सामने आया है। शातिर सोलन जिला के परवाणू में पतंजलि के डिब्बे की तरह ही नकली डिब्बा बनाकर कम दाम पर नकली घी बेच रहे थे। शिकायत मिलने पर पुलिस ने जांच शुरू की और एक शातिर को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान दीपक जैन (42) कसौली (सोलन) के रूप में हुई है। वहीं आरोपी के रिहायशी मकान से एक लैपटॉप, पेन ड्राइव भी बरामद हुए है। चैक करने पर लैपटॉप में देसी घी की सप्लाई को लेकर बिल मौजूद पाए गए।


यह भी पढ़ें: नारकोटिक्स कंट्रोल एसआईटी ने 100 करोड़ के NDPS रैकेट का भंडाफोड़ किया

गौतम इंडस्ट्री द्वारा बनाया जा रहा था नकली घी

मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड कंपनी को पता चला है कि परवाणू में गौतम इंडस्ट्री द्वारा पतंजलि का नकली घी बनाकर बेच जा रहा है। आरोपी ने पतंजलि के घी के डिब्बों के सामान ही दिखने वाले डिब्बे तैयार किये थे जिनको बाजार में बेचा जा रहा था। बाजार में नकली पैकिंग को कम दाम में उपलब्ध करवाया जा रहा था।

क्यूआरकोड नहीं हो रहा स्कैन

शिकायतकर्ता ने बताया कि पतंजलि के असली घी के डिब्बे में MRP (Incl.of all taxes) अंकित होता है, जिसमें Incl का आई शब्द छोटा है, जबकि व्यक्ति द्वारा तैयार किए गए नकली डिब्बे में आई शब्द बड़ा है। इसके अतिरिक्त असल घी के डिब्बे पर लगा क्यू आर कोड स्कैन होता है, जबकि बाजार पर उपलब्ध कराए गए इन डिब्बों पर लगा क्यूआर कोड स्कैन नहीं हो रहा है। इससे यह तो साफ हो गया था कि आरोपी द्वारा छल कर पतंजलि कंपनी का नकली घी बाजार में सप्लाई किया जा रहा था। शिकायतकर्ता ने पुलिस से इस मामले में कार्रवाई की मांग की है।

मौके से दो नकली घी की पेटियां हुई बरामद

पुलिस ने गौतम इंडस्ट्री सेक्टर -2 परवाणू में दबिश दी। इस दौरान आरोपी दीपक जैन की इंडस्ट्री से दो पेटियां बरामद की गई। पड़ताल में 24 डिब्बे पतंजलि देसी घी बरामद हुआ। पुलिस ने ये भी पाया कि इन पैकेटों पर लगा क्यूआर कोड स्कैन नहीं हो रहा है। पुलिस की शुरुआती जांच में शिकायतकर्ता द्वारा बताए गए MRP (Maximum Retail Price) से जुड़े फैक्ट सही पाए गए। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है व आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है