Covid-19 Update

2,86,061
मामले (हिमाचल)
2,81,413
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,452,164
मामले (भारत)
551,819,640
मामले (दुनिया)

खास होती हैं नोट के किनारे बनी तिरछी लकीरें, यहां जानें वजह

हर एक नोट पर होती हैं अलग-अलग लाइनें

खास होती हैं नोट के किनारे बनी तिरछी लकीरें, यहां जानें वजह

- Advertisement -

हमारे देश में करेंसी के तौर पर रुपए का इस्तेमाल किया जाता है। आपने नोट तो कई बार देखे होंगे, लेकिन अगर आपने अगर नोटों को गौर से देखोगे तो आपको नोट पर लकीरें (Lines) दिखाई देंगी। ये लकीरें हर एक नोट पर बनी होती हैं, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इन लकीरों का क्या मतलब होता है।

यह भी पढ़ें:भारतीय नोटों पर तिरछी लाइनें क्यों होती हैं, यहां जानें इनके पीछे का गहरा राज

बता दें कि नोटों पर ये लाइन नोट के हिसाब से होती है। हर एक नोट के किनारे बनीं ये लाइनें अलग-अलग होती हैं। यानी पांच रुपए के नोट के किनारे बनी लाइनें दो हजार रुपए के नोट से कम होंगी। नोट की वैल्यू के हिसाब से ये लाइनें घटती-बढ़ती रहती हैं। आज हम आपको इन लकीरों का मतलब बताएंगे।

नोटों के किनारे बनी इन लकीरों को ब्लीड मार्क्स कहते हैं। ये लकीरें खासतौर पर दृष्टिहीन लोगों के लिए बनाई जाती हैं। दृष्टिहीन लोग इन लकीरों के माध्यम से नोटों की वैल्यू को समझ पाते हैं। नोटों पर बनाई गई लकीरें उसकी वैल्यू के हिसाब से हर नोट पर अलग होती है। दृष्टिहीन लोग नोटों पर उंगलियां फेर कर नोटों की वैल्यू बताते हैं।

गौरतलब है कि सौ रुपए के नोट में दोनों तरफ चार लकीरें होती हैं। जबकि, दो सौ के नोट में बनी चार लकीरों के साथ दो जीरो भी लगे होते हैं। वहीं, पांच सौ के नोट में पांच लकीरें और दो हजार के नोट पर सात लकीरें बनी होती हैं। ये सभी लकीरें नोटों में उभरी हुई होती हैं और इन्हीं उभरी हुई लकीरों से नेत्रहीन लोग नोट की वैल्यू समझ पाते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है