Covid-19 Update

2,86,261
मामले (हिमाचल)
2,81,513
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,488,519
मामले (भारत)
553,690,634
मामले (दुनिया)

घर पर लगाएं इलायची का पौधा, अपनाएं ये आसान तरीका

सालभर होती है इलायची की उपज, 2 से 4 मीटर ऊंचे होते हैं पौधे

घर पर लगाएं इलायची का पौधा, अपनाएं ये आसान तरीका

- Advertisement -

दुनिया में केसर और वेनिला के बाद इलायची (Cardamom) सबसे महंगे मसालों में से एक है। बहुत सारे लोगों को इलायची खाना पसंद भी होता है। आप चाहें तो अपने घर में भी इलायची का पौधा उगा सकते हैं। आज हम आपको घर पर इलायची का पौधा उगाने के कुछ आसान टिप्स बताएंगे।

यह भी पढ़ें:नहीं फेंकने चाहिए फल और सब्जियों के छिलके, ऐसे करें इस्तेमाल

बता दें कि इलायची की उपज पूरे साल होती है। इलायची के पौधे में कठोर और खड़ी सुगंधित पत्तियां उगती हैं। ये पत्तियां पौधे के तने का हवाई हिस्सा बनती हैं। पौधे के ये तने 2 से 4 मीटर ऊंचे होते हैं। ये पौधे के चारों ओर पत्तियों की छतरी बनाते हैं। छोटी इलायची के फूल पीले या लाल पट्टियों के साथ सफेद होते हैं। इलायची के फलों को कैप्सूल कहा जाता है और
इन्हीं फलों के अंदर जो पौधे के बीज होते हैं उनका इस्तेमाल मसाले के रूप में किया जाता है।

इलायची का पौधा लगाने के लिए इलायची के बीज को मीडियम साइज के गमले में लगा दें और छांव में रख दें। शुरुआत में खाद के तौर पर गमले में सिर्फ गोबर का इस्तेमाल करें। इस बीज को अंकुरित होने में 4 से 6 दिन का समय लगता है। जब पौधा अंकुरित हो जाए तो उससे छेड़छाड़ ना करें, बल्कि सुबह-शाम सीमित मात्रा में पानी के छिड़काव करते रहें। ठीक एक महीने के बाद पौधा निकल आएगा।

इसके बाद पौधे को रोज दो से तीन घंटे तक धूप में रखें। वहीं, जब पौधा थोड़ा बड़ा हो जाए तब होममेड चीजों को खाद के तौर पर इस्तेमाल करें। जैसे कि आजकल गर्मी बहुत पड़ रही है, ऐसे में पौधे को सुबह-शाम नियमित पानी दें। ऐसा करने से इलायची का पौधा घर पर ही लग जाएगा।

बता दें कि इलायची सेहत के लिए काफी लाभदायक होती है। इलायची में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व मुंह और त्वचा के कैंसर से लड़ने में कारगार साबित होते हैं। इलायची का सेवन करने से मोटापा और वजन भी कंट्रोल में रहता है। इलायची को खाने से खर्राटे की समस्या दूर होती है। अच्छी नींद लेने के लिए और खर्राटों की समस्या दूर करने लिए इलायची को गर्म पानी के साथ रोज खाएं।

वहीं, अगर किसी को बार-बार होने वाली घबराहट की समस्या हो तो उसे दिन में 2 या 3 बार इलायची खानी चाहिए। इलायची का सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट तत्व ब्लड सर्कुलेशन की सामान्य बनाते हैं, जिससे कि मूड़ स्विंग्स में भी राहत मिलती है। इलायची की तासीर ठंडी होती है। ऐसे में गर्मियों में इलायची के पानी को पीने से सेहत को बहुत लाभ मिलता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है