सड़कों की गुणवत्ता के लिए विक्रमादित्य ने तैयार किया रोडमैप -पैसा केंद्र से मांगेंगे

पीडब्ल्यूडी के सभी अफसरों के साथ जल्द बैठक करेंगे

सड़कों की गुणवत्ता के लिए विक्रमादित्य ने तैयार किया रोडमैप -पैसा केंद्र से मांगेंगे

- Advertisement -

शिमला। सुक्खू सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री विक्रमादित्य सिंह एक्शन मोड में आ गए हैं। सोमवार को सचिवालय में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में सड़कों की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए रुपरेखा तैयार कर दी है। क्वालिटी को बनाए रखने के लिए उन्होंने अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं। विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि केंद्रीय प्रायोजित स्कीमों के तहत मिलने वाले बजट को केंद्र सरकार से मांगेंगे। इसके लिए वह केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मिलेंगे और नाबार्ड, पीएमजीएसवाई और सीआरपीएफ के तहत मिलने वाले बजट जारी करने के लिए आग्रह करेंगे। उन्होंने कहा कि पीडब्ल्यूडी के साथ-साथ खेल विभाग भी महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के ग्रामीण स्तर तक खेल को बढ़ावा देकर नशे को खत्म करेंगे। मंत्री ने कहा कि वे जल्द ही निर्माण भवन शिमला में पीडब्ल्यूडी के सभी अफसरों के साथ बैठक करेंगे, ताकि राज्य में सड़कों की गुणवत्ता बनी रहे।

यह भी पढ़ें- सुक्खू बोले-कांगड़ा को सीएम मिल गया और क्या चाहिए, मैं खुद कांगड़ा से हूं

खेल संघों में न हो राजनीति

खेल मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि खेल संघों में राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने खेल नीति बनाने का डिंडोरा पीटा, लेकिन लागू नहीं किया। उन्होंने कहा कि तत्कालीन वीरभद्र सरकार के समय ही खेल नीति बनी थी। उन्होंने कहा कि किसी भी खेल एसोसिएशन में पदाधिकारियों का कार्यकाल फिक्स होनी चाहिए। आने वाले समय में खेल नीति पर बात करेंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है