Covid-19 Update

3,05, 383
मामले (हिमाचल)
2,96, 287
मरीज ठीक हुए
4157
मौत
44,170,795
मामले (भारत)
590,362,339
मामले (दुनिया)

40 साल से बस शेल्टर की मांग कर रहे थे ग्रामीण, नहीं माने अफसर, भैंस को बनाया चीफ गेस्ट

कंस्ट्रक्शन ना होने की वजह डंपिंग यार्ड में बदल दिया गया बस शेल्टर

40 साल से बस शेल्टर की मांग कर रहे थे ग्रामीण, नहीं माने अफसर, भैंस को बनाया चीफ गेस्ट

- Advertisement -

हमारे देश में कई अधिकारी व जनप्रतिनिधि ऐसे हैं जो अपना काम समय पर नहीं करते हैं। इस कारण जनता को विरोध-प्रदर्शन पर उतरना पड़ता है। हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। यहां ग्रामीणें ने अधिकारियों द्वारा अनदेखी जताने पर नाराजगी का एक अनोखा तरीका अपनाया है।

यह भी पढ़ें:विधवा के प्यार में था शादीशुदा मर्द, ग्रामीणों ने सरेआम करवाया ऐसा काम

मामला कर्नाटक के गडग जिले के लक्ष्मेश्वर तालुक के बालेहोसुर गांव का है। ग्रामीणों का कहना है कि यहां पिछले 40 साल से अधिकारियों और विधायकों से बस शेल्टर (Bus Shelter) नहीं बनवाया है। जिसके चलते गांव वालों ने पैसा जुटाकर खुद ही बस शेल्टर बना लिया। वहीं, इस मौके पर उन्होंने किसी नेता व अधिकारी को बुलाने के बजाए एक भैंस (Buffalo) को आमंत्रित किया। ग्रामीणों ने बस शेल्टर का उद्घाटन भी भैंस से करवाया।

गांव वालों ने बताया कि गांव की आबादी 5000 है और हर रोज छात्रों को पढ़ने व काम के लिए आसपास के शहरों तक सफर करते हैं। इसी के चलते गांव वालों ने सरकार के खिलाफ अनोखे तरीके से विरोध करने का फैसला किया। गांव वालों ने नारियल की शाखाओं से बस शेल्टर की छत का निर्माण किया और एक भैंस को मुख्य अतिथि बनाया। इस दौरान भैंस को सजा-धजा कर लाया गया और फिर रिबन काटा गया।

ग्रामीणों का कहना है कि वे पिछले 40 साल से बस शेल्टर बनवाने की मांग कर रहे थे। उन्होंने बताया कि कंस्ट्रक्शन ना होने की वजह से बस शेल्टर को डंपिंग यार्ड में बदल दिया गया। बस शेल्टर ना होने के कारण लोगों को तेज धूप व बारिश में बसों का इंतजार करने में काफी परेशानी होती थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है