इंस्टाग्राम यूजर को देखकर महिला बनी सफाईकर्मी, 40 लाख की छोड़ी नौकरी

महिला अब कॉरपोरेट जॉब छोड़ बन गई है फुल टाइम क्लीनर

इंस्टाग्राम यूजर को देखकर महिला बनी सफाईकर्मी, 40 लाख की छोड़ी नौकरी

- Advertisement -

दुनिया भर में जहां कोरोना (Corona) महामारी और लॉकडाउन के दौरान लोगों को कई तरह का नुकसान हुआ, वहीं, लॉकडाउन में कुछ लोगों का हुनर भी उभ्र कर सामने आया। आज हम आपको बताएंगे ब्रिटेन की एक ऐसी महिला के बारे में जिसको लॉकडाउन में समझ आया कि उसकी खुशी साफ-सफाई करने में हैं। इतना ही नहीं महिला ने सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम (Instagram) की एक यूजर की मदद से कॉरपोरेट जॉब (Corporate Job) छोड़कर सफाई का काम करने का निर्णय भी ले लिया।


यह भी पढ़ें-2022 को लेकर बाबा वेंगा की खौफनाक भविष्यवाणी, एलियंस के हमले- नए वायरस मचाएंगे तबाही

ब्रिटेन (Britain) की रहने वाली महिला क्लेयर बर्टन (Claire Burton) का कहना है कि क्लीनर बनना कॉरपोरेट जॉब में ईमेल लिखने से बिल्कुल अलग दुनिया है। उसका कहना है कि यह फैसला उसके करियर का सबसे अच्छा फैसला था। लाखों रुपए की जॉब छोड़ने वाली क्लेयर बर्टन अभी 6 लोगों के यहां सफाई का काम कर रही है। उन्होंने यह काम इंस्टाग्राम यूजर मिसेज हिंच को देखने के बाद शुरू किया।

क्यों चुना सफाई का काम

बर्टन ने साल 2001 में एक हाई-स्ट्रीट बैंक के लिए ग्राहक सेवा प्रतिनिधि के रूप में काम करना शुरू किया था। उस समय बर्टन की कमाई लगभग डेढ़ लाख रुपए तक थी। इसके बाद साल 2003 में सितंबर में बर्टन ने अपने बॉयफ्रेंड डेव के साथ शादी कर ली। फिर, 2017 में प्रमोशन के बाद बर्टन की सैलरी लगभग 40 लाख रुपए हो गई थी, लेकिन इसी साल बर्टन के पिता की लीवर कैंसर (Cancer) के कारण मौत हो गई। साल 2018 में उसके पति ने उसे तलाक (Divorce) दे दिया, जिसके बाद वह गहरे सदमे चली गई ।

ऐसे किया खुद को मजबूत

बर्टन ने बताया कि मुझे उस समय लग रहा था कि जीवन खत्म हो गया हो। अगले कई महीनों तक वह अकेली थी। हालांकि, एक चीज थी जिसने अप्रत्याशित रूप से मेरी मदद की और वो चीज थी सफाई। बर्टन ने कहा कि अचानक वो काम जिससे मैं हमेशा नफरत करती थी और दूसरों को करने के लिए पैसे देती थी, मेरे लिए एक आश्रय बन गया। बर्टन ने कहा कि मैंने इंस्टाग्राम पर मिसेज हिंच (Mrs. Hinch) को देखा और पाया कि सप्ताह में चार घंटे सफाई करने से मुझे शांत रहने में मदद मिल सकती है। यह एक तरह से मेडिटेशन (Meditation) की तरह था। धीरे-धीरे जनवरी 2019 तक एक गाइड की मदद से मैंने अपने आपको सदमे से उबार लिया।

साफ-सफाई को ही बना लिया काम

कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान घर से काम करते हुए बर्टन साफ-सफाई करती रही और वह खुश रहने लगी। जिसके बाद उसने सोचा क्यों ना इसे ही अपना काम बना लिया जाए। फिर बर्टन ने अपनी जॉब छोड़ दी और फुल टाइम क्लीनर (Full Time Cleaner) बन गई। अब वह सिर्फ अपने घर में नहीं बल्कि 6 ग्राहकों के घरों की भी सफाई करती हैं।

इतनी सैलरी में ही हैं खुश

बर्टन कहती है कि मेरे वेतन में 70 फीसदी से ज्यादा कटौती हुई है, जो कि एक बहुत बड़ी गिरावट है। बर्टन ने कहा कि मेरी आय बढ़ रही है और अपने खर्च के लिए मेरे पास पर्याप्त पैसे हैं, मेरे लिए इतना ही काफी है। मैं अपने सपने को जी रही हूं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है