Covid-19 Update

2,86,061
मामले (हिमाचल)
2,81,413
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,452,164
मामले (भारत)
551,819,640
मामले (दुनिया)

वन मंत्री का रास्ता रोकने पर युवा कांग्रेस अध्यक्ष राघव राणा सहित तीन पर मामला दर्ज

डीजीपी को सस्पेंड करने की मांग पर युवा कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन

वन मंत्री का रास्ता रोकने पर युवा कांग्रेस अध्यक्ष राघव राणा सहित तीन पर मामला दर्ज

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल के ऊना जिला में वन मंत्री राकेश पठानिया का रास्ता रोकने और डीजीपी संजय कुंडू का पुतला फूंकने पर पुलिस ने युवा कांग्रेस के अध्यक्ष राघव राणा सहित तीन के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने राघव राणा के अलावा गगरेट युवा कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष अमन ठाकुर व बीडीसी सदस्य सुमित शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की है। जानकारी देते हुए एएसपी प्रवीण धीमान ने बताया कि युवा कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता पुलिस भर्ती मामले में पेपर लीक मामले पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान वन मंत्री राकेश पठानिया गाडी में बैठकर जाने लगेए तो युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनका रास्ता रोककर नारेबाजी शुरू कर दी। इतना ही नहीं रोटरी चौक पर पुतला भी जलाया गयाए जिसके खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की है।

पठानिया की गाड़ी के आगे बैठ गए युकां कार्यकर्ता, पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए हटाए

बता दें कि हिमाचल में पुलिस भर्ती परीक्षा का पेपर लीक मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पिछले 8 दिनों से प्रदेश के सभी जिला मुख्यालय पर युवा कांग्रेस के पदाधिकारी क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे हैं। ऊना के सर्किट हाउस में युवा कांग्रेस ने बुधवार सुबह हिमाचल प्रदेश के वन मंत्री राकेश पठानिया का घेराव कर डाला। बदोली गांव में फॉरेस्ट गार्ड राजेश कुमार की अंत्येष्टि में विशेष रूप से शामिल होने आए वन मंत्री अंतिम संस्कार के बाद सर्किट हाउस पहुंचे थे। जहां युवा कांग्रेसियों ने उनका घेराव करते हुए जोरदार नारेबाजी की और पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा के पेपर लीक मामले पर सरकार को जमकर फटकार लगाई।

यह भी पढ़ें- वनरक्षक राजेश का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार, वन मंत्री बोले-दिलाएंगे शहीद का दर्जा

इस दौरान युवा कांग्रेसियों ने मंत्री की गाड़ी के समक्ष बैठकर जोरदार नारेबाजी और धरना प्रदर्शन भी किया। हालांकि बाद में पुलिस को हल्का बल प्रयोग के साथ युवा कांग्रेसियों को वहां से हटाना भी पड़ा। युवा कांग्रेस का आरोप है कि पुलिस भर्ती लिखित परीक्षा का पेपर लीक मामला हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा घोटाला है उन्होंने कहा कि इसमें सीधे सीधे तौर पर पुलिस के अधिकारी भी जिम्मेदार हैं। युवा कांग्रेसियों ने कहा कि प्रदेश सरकार सब कुछ जानते हुए भी हिमाचल प्रदेश पुलिस के प्रमुख को बचाने का प्रयास कर रही है जबकि डीजीपी को यह मामला सामने आने के बाद नैतिकता के आधार पर ही अपना पद छोड़ देना चाहिए था। युवा कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि यदि अब भी सरकार ने डीजीपी को उनके पद से नहीं हटाया तो आने वाले दिनों में युवा कांग्रेस प्रदेश भर में उग्र प्रदर्शन करेगी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है