Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

26 मार्च को फिर से भारत बंद का ऐलान, चिल्ला बॉर्डर को भी करेंगे बंद : राकेश टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा हम गुजरात भी जाएंगे

26 मार्च को फिर से भारत बंद का ऐलान, चिल्ला बॉर्डर को भी करेंगे बंद : राकेश टिकैत

- Advertisement -

नई दिल्ली। कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के विरोध में एक बार फिर किसान संगठनों ने भारत बंद का ऐलान किया है। इस बार भारत बंद (Bharat Bandh) का ऐलान 26 मार्च के लिए किया गया है। किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) का कहना है कि 26 मार्च को हम चिल्ला बॉर्डर (Chilla Border) भी बंद करेंगे। आपको बता दें कि चिल्ला बॉर्डर नोएडा (Noida) को दिल्ली से जोड़ता है। किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि यदि जरूरत पड़ती है तो हम चिल्ला बॉर्डर पर गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) की तरह आंदोलन करेंगे। उधर, अब राकेश टिकैत गुजरात जाने की तैयारी में भी हैं। राकेश टिकैत ने कहा है कि गुजरात के नमक के किसान (Farmers) बर्बाद हो गए हैं। गुजरात के नमक किसानों को आजादी दिलवाने के लिए गुजरात जाऊंगा। जानकारी के अनुसार राकेश टिकैत अप्रैल में गुजरात (Gujarat) जाएंगे।

यह भी पढ़ें: Himachal : निजीकरण के खिलाफ बैंक कर्मियों की हड़ताल दूसरे दिन भी जारी, कामकाज प्रभावित

 

 

आपको बता दें कि कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान नेताओं ने इस व्यापक कर दिया है। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। इस बीच राकेश टिकैत पश्चिम बंगाल (West Bengal) भी गए थे। वहां राकेश टिकैत ने किसान महापंचायत भी की थी और बीजेपी (BJP) को वोट ना देने की अपील भी की थी। बंगाल में चुनाव (Election) को लेकर माहौल कैसा है। इस सवाल के जवाब में राकेश टिकैत ने कहा कि वहां लोगों में नाराजगी है। इसके अलावा टिकैत (Tikait) ने कहा कि जो लोग उत्तर प्रदेश और बिहार से हैं, उन लोगों में कुछ लोग बीजेपी (BJP) के समर्थन में हैं। हालांकि बंगाल के लोग हैं ममता बनर्जी के साथ ही हैं।

यह भी पढ़ें: #Mandi : कृषि कानूनों के खिलाफ और किसान आंदोलन के समर्थन करने सड़क पर उतरी कांग्रेस

इसके अलावा राकेश टिकैत ने कहा कि उत्तर प्रदेश के जो लोग बंगाल में टैक्सी ड्राइवर (Taxi Driver) हैं हमने उन्हें समझाया कि उनकी गाड़ियां 10 और 15 साल में सड़कों पर नहीं चलने दी जाएगी। यदि एनजीटी (NGT) के कानून से चलते हैं तो वहां बीजेपी सरकार आने पर वही कानून लागू होगा। उन्होंने कहा कि हमने भी अभी मामला बातचीत पर अटका रखा है। हमारे पास भी वक्त नहीं है बात करने का। अभी हम अलग-अलग राज्यों में जा रहे हैं। किसान नेता (Farmer Leader) राकेश टिकैत ने कहा कि हमें गुजरात भी जाना है। हम चार और पांच अप्रैल को गुजरात जाएंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है