Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

चंड़ीगढ- मनाली एनएच भूस्खलन के चलते हुआ बंदः पहाड़ी से गिर रहा मलबा, पर्यटक भी फंसे

मंडी में पचास सड़के बंद लोगों के घरों में धुसा पानी

चंड़ीगढ- मनाली एनएच भूस्खलन के चलते हुआ बंदः पहाड़ी से गिर रहा मलबा, पर्यटक भी फंसे

- Advertisement -

मंडी। प्रदेश में मानसून का असर साफ दिखाई दे रहा है। रविवार देर रात से मूसलाधार बारिश के कारण सामरिक महत्व वाले चंडीगढ़-मनाली एनएच ( Chandigarh- Manali NH) का संपर्क पूरी तरह से कट गया है। सात मील के पास भारी भूस्खलन ( landslide) के चलते यह मार्ग पूरी तरह बंद हो गया है। यहां पर पह‌ाड़ी से गिर रहे मलबे की चपेट में आने से एक वाहन भी क्षतिग्रस्त हुआ है। इस वाहन मे सभी सवार सुरक्षित बताए जा रहे हैं। मार्ग बंद होने के कारण दोनों तरफ वाहनों की कतारें लगी हुई हैं। वहीं वैकल्पिक कमांद -बजौर मार्ग भी ठप है। यहां पर पर्यटक फंस गए हैं। मनाली का मंडी से संपर्क कट गया है। इस कारण पर्यटक चंडीगढ़, पंजाब व दिल्‍ली वापस नहीं जा पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में डराने लगी बारिश, देहरा -चंडीगढ़ मार्ग पर भूस्खलन, आवाजाही बंद


बारिश के कहर के चलते जिला मंडी में पचास के करीब मार्ग बंद हो गए हैं। उधर सरकाघाट- धर्मपुर एनएच पर भी पहिए थम गए हैं। वहीं भारी बारिश से नदी नाले उफान पर हैं। प्रशासन ने नदी नालों के किनारे बसे लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने की हिदायत दी है। तेज बारिश के चलते कई जगह पर लोगों के घरों में पानी घुस गया है। डीसी मंडी अरिंदम चौधरी ने सड़कों के बंद होने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि प्रभावित सड़कों को ठीक करने के लिए मशीनरी व लेबर तैनात की है। लेकिन भारी बारिश के चलते ‌रेस्टोरेशन कार्य में बाधा आ रही है।

 

इसी तरह से कालका-शिमला नेशनल हाईवे पर तम्बूमोड़, सोलन और सनवारा के समीप पहाड़ी दरक गई है। इसके चलते हाईवे पर वाहनों की आवाजाही को वन वे कर दिया गया है। भूस्खलन के बाद हाईवे करीब15 मिनट तक बंद रहा। फोरलेन कंपनी के कर्मचारियों और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हाईवे को वन वे कर वाहनों की आवाजाही शुरू की।  हाईवे पर वाहन रेंग-रेंग कर चल रहे हैं। उधर, सूचना मिलने के बाद एसपी सोलन अभिषेक यादव भी मौके के लिए रवाना हुए। हालांकि इस भूस्खलन से किसी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ है। चालकों से वाहन सावधानी पूर्वक चलाने का आग्रह किया गया है। फोरलेन पर जगह-जगह भूस्खलन का खतरा बना हुआ है। ऐसे में सभी को एहतियात बरतने की सलाह दी गई है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है