Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,228,288
मामले (भारत)
117,215,435
मामले (दुनिया)

शिमला जिला परिषद पर कांग्रेस का कब्जाः चंद्रप्रभा नेगी अध्यक्ष व सुरेंद्र बने उपाध्यक्ष

चंद्रप्रभा नेगी तो 15 मत मिले जबकि सु रेंद्र ने 17 मत हासिल किए

शिमला जिला परिषद पर कांग्रेस का कब्जाः चंद्रप्रभा नेगी अध्यक्ष  व सुरेंद्र  बने उपाध्यक्ष

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश में जिला परिषद शिमला ( Zilla Parishad Shimla) के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद के लिए आज चुनाव हुआ। इसमें चंद्र प्रभा नेगी को अध्यक्ष ( Chandra Prabha Negi chairperson) व सुरेंद्र रेटका को उपाध्यक्ष ( Surendra Retka vice chairman) चुना गया। चंद्रप्रभा नेगी को 15 मत मिले जबकि सुरेंद्र ने 17 मत हासिल किए। बचत भवन में सुबह 10 बजे से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया 3 घंटे चली। बीजेपी की तरफ से अध्यक्ष पद भारती जनारथा व उपाध्यक्ष पद के लिए मदन लाल वर्मा को मैदान में उतारा था। डीसी शिमला आदित्य नेगी ने जिला परिषद चुनावी प्रक्रिया की जानकारी दी और बताया कि अध्यक्ष पद पर चंद्र प्रभा नेगी को भारती के 9 वोट के मुकाबले 15 वोट मिले जबकि उपाध्यक्ष पद पर बीजेपी में मदन लाल वर्मा के 7 वोटों के मुकाबले सुरेंद्र को 17 मत मिले।  ,24 सदस्यीय जिला परिषद में कांग्रेस समर्थित 13 सदस्य जीत कर पहुंच हैं जबकि पांच निर्दलीय , 4 बीजेपी व दो सीटों पर माकपा समर्थित उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है।

यह भी पढ़ें: ऊनाः स्कूल प्रबंधन ने मांगें एनुअल चार्जेस तो भड़क गए अभिभावक, डीसी के पास पहुंचे

कांग्रेस की जीत के बाद डीसी ऑफिस के बाहर जश्न का माहौल बन गया।जीत हासिल करने के बाद कांग्रेस के जिला परिषद अध्यक्ष एवम उपाध्यक्ष ने जीत का श्रेय कांग्रेस आलाकमान को दिया और कहा कि शिमला के विकास को साथ मिलकर आगे बढ़ाया जाएगा।

उधर हिमाचल कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने बताया कि बीजेपी ने हर जगह सत्ता पर कब्जा करने के लिए कई हथकंडे अपनाएं और धन बल का प्रयोग करके कई जगह कांग्रेस के लोगों को प्रलोभन देकर अपनी तरफ मिलाया। लेकिन शिमला में लोग कांग्रेस के साथ खड़े रहे नतीज़तन जिला अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है।इस बार अध्यक्ष पद सामान्यवर्ग की महिला के लिए आरक्षित था और सामान्य वर्ग से छह महिलाएं जीत कर आई थी ऐसे में ज्यूरी त्यावल वार्ड से चंद्रप्रभा नेगी ने बाजी मारी और जीत हासिल की। वह पहले भी इस पद पर काबिज रह चुकी है, इसलिए उनकी दावेदारी मजबूत मानी जा रही थी। हालांकि कांग्रेस के पास अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के लिए बहुमत था लेकिन अध्यक्ष पद के लिए पिछले कुछ समय से नाम तय नहीं हो पा रहा था। इस संबंध में गुरुवार को कांग्रेस समर्थित जिला परिषद सदस्यों ने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह से भी कुठाड़ में मुलाकात की थी और उनसे नाम तय करने को कहा था। इससे पहले विधानसभा परिसर में भी कांग्रेस समर्थित सदस्यों ने विधाय विक्रमादित्य सिंह से मुलाकात की और नामों पर मंथन किया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है