हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

चीनी महिला जासूसों ने किए बड़े खुलासे: भारत में रह रहे निर्वासित तिब्बती थे उनके टारगेट

नए दलाई लामा की नियुक्ति में दखलअंदाजी चाहता है चीन

चीनी महिला जासूसों ने किए बड़े खुलासे: भारत में रह रहे निर्वासित तिब्बती थे उनके टारगेट

- Advertisement -

धर्मशाला। दिल्ली और हिमाचल में पकड़ी गई दो चीनी महिला जासूस (Chinese Female Spies) ने पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए हैं। पूछताछ में इन चीनी महिला जासूसों ने केंद्रीय जांच एजेंसियों (Central Investigative Agencies) को बताया कि भारत में रहने वाले निर्वासित तिब्बती उनके टारगेट थे। उन्होंने बताया नए दलाई लामा (Dalai Lama) की नियुक्ति में चीन दखलअंदाजी करना चाहता है। उन्होंने बताया कि ड्रेगन का मकसद है कि अगला दलाई लामा या तो चाइना का हो या फिर प्रो चाइना हो। यही वजह है कि चीन दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में बसे तिब्बती समाज के लोगों का ब्रेन बॉश करने में जुटा है। जिसके लिए वो अपनी इन्हीं महिला जासूसों का इस्तेमाल लंबे समय से वक़्त से कर रहा था।

यह भी पढ़ें:मंडी में नेपाली बन कर रही थी चीन की महिला, साढ़े छह लाख नकदी सहित अरेस्ट

इन दोनों चीनी जासूसों की बात से साफ हो गया है कि दोनों जासूस बड़े षड्यंत्र के तहत भारत आई थीं। केंद्रीय जांच एजेंसियों ने इन दोनों चीन जासूसों के मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स फॉरेंसिक जांच (Forensic Investigation) के लिए भेज दिए हैं। वहीं जब चीनी महिला काई रूओ के पासपोर्ट नंबर से उनकी भारत में ट्रैवल हिस्ट्री जानने का प्रयास किया तो पता चला कि यह महिला काफी दिनों तक हिमाचल के धर्मशाला (DharamShala) में भी रही है। हालांकि इस चीनी जासूस ने दावा किया है कि वह बौद्ध धर्म की शिक्षा लेने भारत आई थी। जासूस दिल्ली होते हुए काठमांडू जाने की फिराक में थी, लेकिन दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इसे मंजनू के टिल्ला से गिरफ्तार कर मंसूबों पर पानी फेर दिया।

यह भी पढ़ें:दिल्ली के बाद अब हिमाचल में पकड़ी चीनी महिला, नेपाल से जुड़े दस्तावेज बरामद

दिल्ली स्थित विदेशी पंजीकरण ऑफिस से मिली जानकारी के अनुसार पासपोर्ट नंबर E87857750 काई रूओ पुत्री कार मिंगुआंग निवासी हैनान, चाइना के नाम जारी है और यह चीनी पासपोर्ट है। इस पासपोर्ट पर काई रुओ इंडियन वीजा पर 16 नवंबर 2019 को भारत आई थी। जिसके बाद 25 जनवरी 2020 को वह रानीगंज बॉर्डर से नेपाल चली गई थी। बता दें कि दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने कुछ दिन पहले मंजनू के टिल्ला से एक चीनी महिला जासूस को पकड़ा था। इस महिला का नाम काई रूओ था। वहीं इस महिला की गिरफ्तारी के कुछ ही दिन बाद हिमाचल के चौंतड़ा से भी एक अन्य चीनी महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इस चीनी महिला का नाम गुआन रुईली था। बताया जा रहा है कि इन दोनों का भारत आना एक बड़े षड्यंत्र का हिस्सा हैं। पूछताछ में कई और खुलासे होने की उम्मीद है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है