Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,853,870
मामले (भारत)
178,745,302
मामले (दुनिया)
×

जयराम बोले-हिमाचल में Oxygen का उत्पादन सरप्लस, सिलेंडरों की कमी

सीएम ने ऑक्सीजन उत्पादकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की बातचीत

जयराम बोले-हिमाचल में Oxygen का उत्पादन सरप्लस, सिलेंडरों की कमी

- Advertisement -

शिमला। राज्य सरकार की पहली और महत्वपूर्ण प्राथमिकता स्वास्थ्य चिकित्सा के उद्देश्य से ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करना है, ताकि ऑक्सीजन (Oxygen) के कारण किसी को परेशानी ना झेलनी पड़े। यह बात आज सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने शिमला से वीडियो कांफ्रेंसिंग (Video Conferencing) के माध्यम से राज्य के ऑक्सीजन उत्पादकों को संबोधित करते हुए कही। सीएम ने कहा कि कोरोना (Corona) महामारी के दौरान इस वायरस के प्रभाव को कम करने के लिए समाज में एक-दूसरे की सहायता करना हम सबका दायित्व बनता है। उन्होंने कहा कि राज्य में ऑक्सीजन का उत्पादन सरप्लस है, लेकिन ऑक्सीजन के परिवहन के लिए हमें सिलेंडरों की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें: Live Report: कोरोना कर्फ्यू की जद में Himachal-बाजार बंद, आवाजाही पर नहीं है कोई रोक-टोक….

जयराम ठाकुर ने कहा कि ऑक्सीजन उत्पादकों को राज्य में ऑक्सीजन का अधिकतम उत्पादन सुनिश्चित करना चाहिए ताकि इसका उपयोग कर मानव जीवन को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन के रिसाव और अपव्यय को भी प्रभावी ढंग से रोकने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) मरीजों के लिए ऑक्सीजन की मांग बढ़ने के कारण ऑक्सीजन की खपत भी काफी बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य के लिए 15 मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन का कोटा निर्धारित किया है। राज्य सरकार ने इसे बढ़ाकर 30 प्रतिशत मीट्रिक टन करने का केंद्र सरकार से आग्रह किया है।


यह भी पढ़ें: Himachal: कोरोना राहत कार्यों के लिए जीएस बाली प्रभारी नियुक्त


सीएम ने कहा कि राज्य सरकार आईजीएमसी (IGMC) के ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) की उत्पादन क्षमता को 20 मीट्रिक टन तक बढ़ाएगी। उन्होंने कहा कि इससे राज्य के सबसे बड़े अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति पर्याप्त मात्रा में सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि राज्य में अन्य ऑक्सीजन प्लांटों की उत्पादन क्षमता को भी बढ़ाने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने केंद्र सरकार (Central Government) से मांग को पूरा करने के लिए राज्य को डी-टाइप के 5,000 और बी-टाइप के 3,000 सिलेंडर उपलब्ध करवाने का आग्रह किया है। जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य में स्थित सभी ऑक्सीजन संयंत्रों को राज्य सरकार बिजली की पर्याप्त और निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करेगी, ताकि ऑक्सीजन की कमी ना हो और ऑक्सीजन का उत्पादन सुचारू रूप से चले। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन उत्पादकों को प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में ऑक्सीजन की आपूर्ति निर्बाध और सुचारू रूप से सुनिश्चित करनी चाहिए, ताकि लोग ऑक्सीजन के लिए परेशान ना हो।

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार निजी ऑक्सीजन उत्पादकों के विभिन्न मुदंदों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी और उन्हें समय पर भुगतान सुनिश्चित करेगी। जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने ऑक्सीजन का उचित भंडारण और उपयोग सुनिश्चित करने के लिए सभी स्वास्थ्य संस्थानों में ऑक्सीजन नियंत्रण कक्ष स्थापित किए हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग राम सुभग सिंह ने सीएम व अन्य गणमान्यों का स्वागत किया और कहा कि विभाग ऑक्सीजन प्लांट की उचित कार्यशीलता सुनिश्चित करने के लिए ऑक्सीजन उत्पादकों को लॉजिस्टिक (Logistic) की हर संभव सहायता प्रदान करेगा। प्रदेश में स्थापित ऑक्सीजन संयंत्रों के मालिक सुधांशु कपूर, सुरेश शर्मा, पुष्पेन्द्र मित्तल, विशांत गर्ग, अजय मोदी, रोहित मित्तल, हर्ष गुप्ता और रवि धीमान ने भी इस अवसर पर अपने विचार सांझा किए। आयुक्त उद्योग हंसराज शर्मा, विशेष सचिव अरिंदम चौधरी सीएम के साथ, जबकि मंडी, कांगड़ा, सोलन, सिरमौर और ऊना के डीसी बैठक में वर्चुअल माध्यम से शामिल हुए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है