Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,095,852
मामले (भारत)
114,171,879
मामले (दुनिया)

हिमाचल में नगर निगम चुनाव के लिए Congress Observer की लिस्ट में पहला बड़ा झोल, क्लिक करें

चार नगर निगम के लिए लगाए 16 पर्यवेक्षक, शिमला को छोड़ दिया

हिमाचल में नगर निगम चुनाव के लिए Congress Observer की लिस्ट में पहला बड़ा झोल, क्लिक करें

- Advertisement -

नई दिल्ली/ शिमला। कांग्रेस (Congress)ने नगर निगम चुनाव के लिए हिमाचल में 16 पर्यवेक्षक (Observer) डयूटी पर लगाए हैं। ये पर्यवेक्षक चार नगर निगम (Municipal Corporations) के चुनाव (Elections) से पहले व उस दौरान की एक्टिवटी माने तो रणनीति तय करेंगे। इसमें प्रदेश के सबसे पुराने नगर निगम शिमला का जिक्र नहीं है, संभवतः वहां के रणनीतिकार स्वयं पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ( (Kuldeep Rathore) रहेंगे। लेकिन इन पर्यवेक्षकों में से एक नाम गायब है, हो सकता है कि अंदरूनी रणनीति के तहत उसे लिस्ट से गायब कर दिया हो। वो नाम है, (Pandit Santram) पंडित संतराम के बेटे एवं पूर्व में मंत्री रहे सुधीर शर्मा का। सुधीर शर्मा (Sudhir Sharma) के खाते में ही ये बात जाती है कि वीरभद्र सरकार में मंत्री रहते उन्होंने ही धर्मशाला को नगर निगम का दर्जा दिलवाया था। उन्हीं की रणनीति के चलते पहली मर्तबा ही धर्मशाला नगर निगम (Municipal Corporation in Dharamshala)में कांग्रेस काबिज हुई थी। आज उन्हें ही पर्यवेक्षकों की लिस्ट से बाहर कर दिया गया। ये है कांग्रेस के नगर निगम चुनाव से पहले पर्यवेक्षकों की लिस्ट की पहली अंदरूनी राजनीति। दूसरी तरफ सोलन से पूर्व मंत्री व विधायक धनी राम शांडिल का नाम भी लिस्ट से बाहर है। खैर पार्टी के प्रदेश मामलों के प्रभारी राजीव शुक्ला (Rajiv Shukla) की तरफ से हस्ताक्षरित इस लिस्ट को बुनने का काम तो प्रदेश स्तर पर ही हुआ होगा।

यह भी पढ़ें: ऊना में जयराम सरकार पर बरसे विक्रमादित्य, बोल गए ये बड़ी बात

खैर इन लगाए गए पर्यवेक्षकों की बात करें तो धर्मशाला में सबसे उपर नाम पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष (Sukhwinder Singh Sukhu) सुखविंदर सिंह सुक्खू का रखा गया है। वह धर्मशाला नगर निगम के होने वाले चुनाव के लिए पार्टी के पर्यवेक्षक होंगे। उनके साथ धर्मशाला में पूर्व मंत्री (Kuldeep Kumar) कुलदीप कुमार, पूर्व सांसद चंद्र कुमार व अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव राजेश धर्माणी को भी पर्यवेक्षक के रूप में तैनाती दी गई है। पालमपुर में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष रहे कौल सिंह ठाकुर, विधायक रामलाल ठाकुर, विधायक इंद्र दत्त लखन पाल, किन्नौर के विधायक जगत सिंह नेगी को पर्यवेक्षक लगाया गया है। सोलन में विधायक राजेंद्र राणा, विधायक हर्षवर्धन चौहान, विधायक मोहनलाल ब्राक्टा व केवल सिंह पठानिया को लगाया गया है। मंडी में पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली (GS Bali), विक्रमादित्य सिंह, सुंदर ठाकुर व विनोद सुल्तानपुरी को बतौर पर्यवेक्षक जिम्मेदारी सौंपी गई है। जो पत्र इस बाबत जारी हुआ है उसमें लिखा गया है कि इन पर्यवेक्षकों के साथ पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष कुलदीप सिंह राठौर, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Aghnihotri) समन्वय स्थापित करेंगे।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है