Covid-19 Update

2,27,518
मामले (हिमाचल)
2,22,911
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,633,255
मामले (भारत)
265,951,834
मामले (दुनिया)

हिमाचल: दबे पांव कोरोना देने लगा दस्तक, पिछले 6 दिनों में 500 से अधिक एक्टिव केस आए, स्कूल खुलने के बाद 550 से अधिक बच्चे पॉजिटिव

कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन से बढ़ रही कोरोना की रफ्तार

हिमाचल: दबे पांव कोरोना देने लगा दस्तक, पिछले 6 दिनों में 500 से अधिक एक्टिव केस आए, स्कूल खुलने के बाद 550 से अधिक बच्चे पॉजिटिव

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल (Himachal) में दबे पांव कोरोना फिर दस्तक देने लगा है। बीते कुछ दिनों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़े बेहद चौंकाने वाले हैं। बुधवार को एक्टिव केस की संख्या 1972 पहुंच गई। पिछले 6 दिनों में 500 से अधिक एक्टिव केस सामने आए हैं। कोरोना नियमों के उल्लंघन के चलते हालत बिगड़ने शुरू हो गए हैं। अगर जल्द ही सरकार ने सही कदम नहीं उठाए, तो कोरोना की तीसरी लहर वादी में कहर ढहा सकती है।

यह भी पढ़ें:Corona Update: कांगड़ा के 88 मामलों सहित आज 213 कोरोना संक्रमित, जाने डिटेल

उपचुनाव के चलते बढ़ने लगा कोरोना

दुर्गा पूजा और चुनाव के चलते प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। 10 दिन में 500 स्कूली बच्चे पॉजिटिव आ चुके हैं। इसके अलावा एक छात्रा की मौत भी हो चुकी है। इस समय सिरमौर और लाहौल-स्पीति कोरोना मुक्त है, लेकिन राज्य के सबसे बड़े जिले कांगड़ा में लगातार हालात बिगड़ रहे हैं। अकेले कांगड़ा में 1000 से अधिक एक्टिव केस मौजूद हैं। मंडी में एक्टिव केस की संख्या 185 है, सोलन में 31 है। चिंता की बात यह है कि नेताओं ने जिस तरीके से बेधड़क रैलियां की है, आने वाले दिनों में मंडी में भी कोरोना केस बढ़ेंगे।

6 दिन की छुट्टी

दूसरी तरफ सरकार ने स्कूलों में बढ़ रहे कोरोना के चलते 6 दिन की छुट्टी का ऐलान किया है। प्रदेश में 27 सितंबर 2021 से 25 अक्टूबर तक राजकीय और निजी स्कूलों में 556 विद्यार्थी कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। उधर, सरकार ने सभी जिलों के उपायुक्तों से भी कोरोना के दूसरे डोज को टारगेट से पहले पूरा करने के निर्देश दिए हैं। वहीं, बर्फबारी के बाद पर्यटकों में भी बढ़ोतरी हुई है। शोधकर्ताओं ने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए, अगर प्रदेश में प्रतिबंधों में ढील दी जाती है और पर्यटकों की संख्या में इसी प्रकार वृद्धि होती गई तो कोरोना संक्रमण फैलने की रफ्तार में 47 प्रतिशत तक की वृद्धि हो सकती है और संक्रमण की स्थिति जो बाद में होने की आशंका होगी, वह दो सप्ताह पहले आ जाएगी।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: IGMC में कोरोना की दस्तक, ENT और सर्जरी विभाग के चार डॉक्टर्स पॉजिटिव

कोरोना का नया वेरिएंट मचा रहा तबाही

इधर, खतरे की घंटी देश के लिए भी बज चुकी है। ब्रिटेन और रूस में तबाही मचाने वाला कोरोना का नया वेरिएंट भारत में भी दस्तक दे चुका है। इस वैरिएंट को Delta Plus- AY.4.2 का नाम दिया गया है। बताया जाता है कि यह वैरिएंट डेल्टा वैरिएंट के तुलना में ज्यादा खतरनाक और संक्रामक है। इसके बारे में अधिक जानकारी देते हुए सीएसआईआर इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी के डायरेक्टर डॉ. अनुराग अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि अभी AY.4.2 का डेटा सिर्फ यूके से आया है। भारत में भी इसके कुछ मामले सामने आए हैं।

यह भी पढ़ें:Corona Update: हिमाचल में बढ़ने लगा कोरोना, 261 नए मामले आए सामने, 2 की गई जान

नए वेरिएंट की पूरी जानकारी नहीं

उन्होंने बताया कि वैज्ञानिक इस पर नजर बनाए हुए हैं। नए वैरिएंट से खतरे को लेकर भी अभी तक पूरी तरह से रिसर्च समाने नहीं आई है। इसके साथ ही अभी इस बारे में अभी बहुत ही कम सबूत मिले हैं कि संक्रमण से होने वाली बीमारी और मौतें भी इस नए म्यूटेशन से जुड़ी हुई हैं। INSACOG के एक वैज्ञानिक ने बताया कि जल्द ही इस वैरिएंट के मामलों की घोषणा की जाएगी। INSACOG कोरोना के जीनोमिक सीक्वेंस पर काम करने वाली लैब्स का एक संघ है। INSACOG के मुताबिक, 11 अक्टूबर तक भारत में AY वेरिएंट के 4 हजार 737 मामले सामने आ चुके हैं।

यूरोप में तेजी से बढ़ा है संक्रमण दर

मालूम हो कि ब्रिटेन में मिलने वाले इस वैरिएंट के चलते एक बार फिर यूरोप में संक्रमण दर तेजी से बढ़ा है। यूके के वैज्ञानिकों ने इसे ‘वैरिएंट अंडर इन्वेस्टिगेशन’ के रूप में क्लासिफाई किया है। यूके के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, AY.4.2 की ग्रोथ रेट डेल्टा की तुलना में 17% ज्यादा है। यूके में 23 अक्टूबर को 50 हजार से ज्यादा कोविड मामले दर्ज किए गए, जो 17 जुलाई के बाद सबसे ज्यादा है। यूके में डेल्टा वैरिएंट अब भी कहर मचा रहा है, लेकिन अब यहां AY.4.2 मिलने से मामले और तेजी से बढ़ने लगे हैं।

भारत के लिए खतरे की घंटी इसलिए भी है क्योंकि भारत और यूके के बीच सीधी उड़ानें एक बार फिर से शुरू हो गई है। भारत ने यूके को उन देशों की लिस्ट से भी हटा दिया है जहां से भारत आने वाले यात्रियों को 14 दिन का क्वारनटीन और कोविड का आरटीपीसीआर टेस्ट कराना जरूरी था। अब निगेटिव रिपोर्ट और वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट मंजूर किया जा रहा है. भारत के लिए एक चिंता की बात ये भी है कि यहां अब तक 30 फीसदी आबादी को ही वैक्सीन की दोनों डोज दी गई है। जबकि, दुनिया के कई देशों में अब बूस्टर शॉट भी दिए जाने लगे हैं। भारत में अभी तक बच्चों का वैक्सीनेशन भी शुरू नहीं हो पाया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है