Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

हिमाचल: फेसबुक फ्रैंड बनकर ठगे लाखों रुपये, गिफ्ट देने के बहाने की धोखाधड़ी

अब तक व्यक्ति से कुल 10.98 लाख रुपये की हुई ठगी

हिमाचल: फेसबुक फ्रैंड बनकर ठगे लाखों रुपये, गिफ्ट देने के बहाने की धोखाधड़ी

- Advertisement -

सोलन। हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन के क्षेत्र बद्दी में एक साइबर ठगी का मामला सामने आया है। साइबर ठगों ने व्यक्ति से एक लाख डॉलर के गिफ्ट का झांसा देकर लाखों रुपये ठग लिए हैं। व्यक्ति से कुल 10.98 लाख रुपये की ठगी कर ली गई है। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: तहसीलदार समेत छह लोगों पर धोखाधड़ी का केस, गिरवी रखी जमीन को हड़पने का लगा आरोप

जानकारी के अनुसार, बद्दी निवासी कमल राज शर्मा पुत्र स्वर्गीय कांशी राम की नवंबर में फेसबुक पर एक पोलैंड की मिस जॉन एसफर नामक लड़की से दोस्ती हुई। बातचीत के कुछ हफ्तों बाद लड़की ने कमल से कहा कि उसने उसके लिए गिफ्ट भेजा है। इसी दौरान कुछ दिनों बाद कमल को दिल्ली एयरपोर्ट से मिस्टर माया सूबा नाम से फोन आया, जिसने कमल को कहा कि उसका पोलैंड से कोरियर आया है, जिसकी क्लीयरेंस के लिए 40 हजार जमा करने होंगे और फिर पार्सल घर के पते पर भेज दिया जाएगा। फिर कुछ देर बाद दोबारा फोन आया कि इस पार्सल की स्क्रीनिंग में सामने आया है कि इसमें एक लाख डॉलर कैश है, जोकि भारतीय कानून के खिलाफ है। फोन काल वाले व्यक्ति ने कमल को बताया कि यह कैश रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैंड (आरबीएस) की भारत शाखा में जमा होगा और इंडियन करंसी में पेमेंट होगी जो लगभग 74 लाख है। इसके बाद कमल को आरबीएस बैंक से महिला का फोन आया कि एक लाख डॉलर के कन्वर्जन चार्जेज 75 हजार और 2.54 लाख रुपये बनते हैं, जिन्हें जमा करवाने के बाद ही 74 लाख रुपये कमल के खाते में आएंगे। वहीं, कमल ने उनकी बातों में आकर उनके खाते में ऑनलाइन पैसे जमा कर दिए। इसके बाद एक बार दोबारा कमल को आरबीएस बैंक से उसी महिला का फोन आया और उसने कमल से 74 लाख रुपये का 12,82,700 रुपये टैक्स जमा करने को कहा।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: वर्क वीजा के नाम पर ट्रैवल एजेंट ने युवक से की ठगी, मामला दर्ज

टेक्स की बात सुनकर कमल ने मना कर दिया कि उसके पास इतने पैसे नहीं है। इसी बीच कमल को दिल्ली एयरपोर्ट वाले माया सुबा का फोन आया और उसने कमल से कहा कि वो 7.5 लाख रुपये की मदद कर देगा और बाकी टैक्स की रकम कमल को अदा करनी होगी। जिसके बाद कमल ने 17 नवंबर को 2,82,700 और 18 नवंबर को 2.05 लाख रुपये जमा करवाए। अगले ही दिन कमल को फिर आरबीएस बैंक वाली महिला का फोन और मेल आई कि कमल को एंटी टेररिस्ट सर्टिफिकेट लेना होगा जिसके लिए 1,99,200 रूपये जमा करने होंगे। इसके बाद 20 नवंबर को बैंक महिला का फोन आया कि कोरियर से एटीएम कार्ड भेजा है सारा पैसा इसमें जमा है। वहीं, 22 नवंबर को कमल को एटीएम और पिन मिला। इसके बाद कमल को फोन पर एटीएम से 10 हजार रुपये निकालने को कहा गया। इसी के बाद कमल को बैंक से फिर फोन आ गया कि कमल का एटीएम कार्ड ब्लॉक कर दिया गया है, इसको एक्टिव करने के लिए 11,80,000 जमा करने होंगे तब फुल अमाउंट मिलेगा। वहीं, अब कमल को पैसा जमा करवाने और कार्ड वापस करने के बार-बार फोन आ रहे हैं। इससे कुल 10.98 लाख रुपये की ठगी कर ली गई है। डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने शिकायत के आधार पर धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि लोग ऐसी बातें शुरुआत में ना तो किसी अपने से शेयर करते हैं और ना ही पुलिस को कोई जानकारी देते हैं। जिस वजह से लोग साइबर ठगों का शिकार हो जाते है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है