Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

खुशखबरी: इलेक्ट्रिक स्कूटर-मोटरसाइकिल हो जाएगा सस्ता,ये रही वजह

उद्योग मंत्रालय ने दोपहिया वाहनों के लिए प्रोत्साहन की घोषणा की

खुशखबरी: इलेक्ट्रिक स्कूटर-मोटरसाइकिल हो जाएगा सस्ता,ये रही वजह

- Advertisement -

कोरोना काल में जिस वक्त लॉकडाउन या कर्फ्यू जैसे हालात बने हुए थे, नौकरीपेशा लोगों के लिए आवाजाही एक बड़ी परेशानी का सबब बनकर सामने आया। अभी भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट हर जगह नहीं चल रही है, ऐसे में जिन लोगों के पास अपने खुद के वाहन नहीं है, वह बेहद परेशानियों से गुजरे हैं। खैर किसी तरह वह वक्त भी काट लिया, अब परिस्थितियां कुछ सुधर रही हैं। हिमाचल (Himachal) जैसे पहाड़ी राज्य में भी कल से पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Public Transport) शुरू होने जा रहा है। इसी बीच उन नौकरीपेशा लोगों के लिए या दूसरों के लिए भी खुशखबरी की बात ये है कि इलेक्ट्रिक स्कूटर व मोटरसाइकिल (Electric Scooter-Motorcycle) सस्ता (Cheaper) होने जा रहे हैं। उद्योग मंत्रालय ने देश में निर्मित दोपहिया वाहनों के लिए प्रोत्साहन की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें:  400 किलोमीटर दौड़ाओं फुल चार्जिंग पर इस एसयूवी को-और भी बहुत कुछ

FAME-II योजना के तहत इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर के लिए पहले सब्सिडी की दर 10,000 रूपए /kWh थी, जो अब बढ़कर 15,000 रूपए /kWh हो गई है। इसके माध्यम से सरकार का लक्ष्य देश में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर के उपयोग को बढ़ावा देना है। इस वक्त अधिकतर इलेक्ट्रिक वाहन अपने ICE इंजन वाले वाहनों की तुलना में 20,000 रूपए से अधिक तक महंगे हैं। कीमत में यह कमी निश्चित रूप से ग्राहकों को ईवी अपनाने और 2030 तक भारत को एक इलेक्ट्रिक वाहन नेशन बनाने की सरकार की योजनाओं में मदद करेगी। ऐथर (Ather) ने अपने प्रमुख 450X इलेक्ट्रिक स्कूटर पर 14,500 रूपए की भारी गिरावट की घोषणा की है। कंपनी ने दावा किया कि वह जल्द ही अतिरिक्त डिटेल्स की घोषणा करेगी। याद रहे कि FAME-II स्कीम के तहत मिलने वाली सब्सिडी का लाभ चुनिंदा इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर को ही मिल पाएगा। इस बेनिफिट के लिए इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की न्यूनतम ड्राइव रेंज 80 किलोमीटर और स्पीड अधिकतम 40 किलोमीटर प्रति घंटे होनी चाहिए। इसके अलावा, फुल चार्जिंग के लिए लगने वाली एनर्जी अधिकतम 8 यूनिट होनी चाहिए। इतना ही नहीं, व्हीकल में 75 फीसदी कलपुर्जे देशी होने चाहिए। तभी इस योजना के लाभ के दायरे में आ पाएंगे।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है