Covid-19 Update

3,12, 281
मामले (हिमाचल)
3, 07, 956
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,601,934
मामले (भारत)
624,506,140
मामले (दुनिया)

हिमाचल विधानसभा: सदन में सीएम जयराम और मुकेश के बीच तीखी नोकझोंक

सीएम जयराम बोले विपक्ष कर्मचारियों को भड़काने का कर रहा काम

हिमाचल विधानसभा: सदन में सीएम जयराम और मुकेश के बीच तीखी नोकझोंक

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा (Himachal Vidhan Sabha) में आज जमकर हंगामा हुआ। सदन में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri) और सीएम जयराम ठाकुर में कर्मचारियों के चल रहे प्रदर्शन को लेकर तीखी नोकझोंक हो गई। सीएम जयराम ने कहा कि कांग्रेस कर्मचारियों को सरकार के खिलाफ भड़का रही है। मुकेश अग्निहोत्री को राजनीतिक भूख है। वहीं नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार कर्मचारियों का दमन कर रही है। इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद विधानसभा को पांच मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया और विपक्ष सदन से नारेबाजी करते हुए बाहर आ गया।

यह भी पढ़ें: पुलिस घेरा तोड़ विधानसभा तक पहुंचे NPS कर्मी, धक्‍का मुक्‍की के बाद वाटर कैनन का प्रयोग

सीएम ने कहा कि ओपीएस को लेकर कर्मचारियों की लंबे समय से मांग चल रही है। जब एनपीएस प्रदेश में लागू हुई तो कांग्रेस की सरकार थी। जो बातें कर्मचारियो ने सरकार के समक्ष रखी उनका समाधान किया है। कोविड के बावजूद कर्मचारियों को सभी लाभ दिए है। सदन में भी कहा है कि सरकार उनको सुनने को तैयार है। चीफ सेक्टरी की अध्यक्षता में कमेटी बनाने को कहा है। आज कर्मचारियों ने 103 के पास सड़क जाम कर दी। पुलिस के साथ उलझे वह सरकार के कर्मचारी है। वह अपनी बात शालीनता से रखे। वरिष्ठ मंत्री भारद्वाज बात करने उनके बीच गए लेकिन उन्होंने बात नही मानी। कर्मचारी राजनीतिक दृष्टि से खिलौना ना बने। वह अपने प्रतिनिधि भेजे उनसे बात की जाएगी ओर शांतिप्रिय तरीके से बात रखे। पुलिस ने संयम से स्थिति को संभाला है।

यह भी पढ़ें- बजट सत्रः ओपीएस पर विपक्ष की सदन में जोरदार नारेबाजी, वॉकआउट भी किया

इससे पहले हिमाचल प्रदेश विधानसभा में गुरुवार को प्रश्नकाल के शुरू होने से पहले ही विपक्ष ने सदन में हंगामा कर दिया। कांग्रेस विधायक दल ने सदन में स्थगन प्रस्ताव को नामंजूर करने पर सदन में नारेबाजी की और कांग्रेस विधायक सरकार पर कर्मचारियों से अलोकतांत्रिक व्यवहार करने का मुद्दा उठाते हुए वेल में चले गए। नारेबाजी के बीच ही स्पीकर ने सदन में प्रश्नकाल शुरू किया। सत्तापक्ष के विधायक ही इस बीच शोर-शराबे के बीच सवाल पूछते रहे, मंत्री इन्हीं के सवालों का जवाब देते रहे। 11 बजकर 17 मिनट पर विपक्ष ने वाकआउट कर दिया।

यह भी पढ़ें: विधानसभा की ओर बढ़े NPS कर्मी, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा, DGP ने खुद संभाला मोर्चा

ईरान से वाया अफगानिस्तान आ रहे सेब पर प्रतिबंध लगाने का मामला केंद्र से उठाया

बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा है कि विदेशों से आने वाले सेब पर आयात शुल्क 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 100 प्रतिशत किए जाने का मामला केंद्र सरकार से उठाया गया है। उन्होंने कहा कि ईरान से वाया अफगानिस्तान आ रहे सेब पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग भी केंद्र सरकार से की गई है। वे आज विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान माकपा विधायक राकेश सिंघा के सवाल का जवाब दे रहे थे। महेंद्र सिंह ने कहा कि दूसरे देशों से आने वाले सेब के कारण हिमाचल प्रदेश के सेब बागवानों को उनके उत्पाद के उचित दाम नहीं मिल पा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि साल भर विदेशों से सेब आयात किया जा रहा है। इसमें ईरान, अफगानिस्तान, तुर्की, दुबई, ब्राजील, चिली, न्यूजीलैंड और अमेरिका शामिल हैं और इन देशों से आ रहे सेब के कारण हिमाचल के सेब को बाजार नहीं मिल रहा है। वहीं, विधायक राकेश सिंघा ने कहा कि अगर विदेशों से आयात होने वाले सेब को ना रोका गया तो इसका असर सीधे प्रदेश के 2.50 लाख परिवारों की आर्थिकी पर पड़ेगा जो सीधे रूप में इससे जुड़े हुए हैं। इस पर मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार इस मामले पर गंभीर है और केंद्र से इस विषय को उठाया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है