Covid-19 Update

2,60,321
मामले (हिमाचल)
2,39. 550
मरीज ठीक हुए
3916*
मौत
38,903,731
मामले (भारत)
347,844,974
मामले (दुनिया)

हिमाचल विधानसभा: स्वास्थय सेवाओं पर सत्तापक्ष और विपक्ष के मध्य तीखी नोक-झोंक

नेरचौक मेडिकल कालेज में एमआरआई सुविधा ना होने पर खड़े किए सवाल

हिमाचल विधानसभा: स्वास्थय सेवाओं पर सत्तापक्ष और विपक्ष के मध्य तीखी नोक-झोंक

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा में शनिवार को स्वास्थ्य सेवाओं (Health Services) के मुद्दे पर चर्चा हुई। कांग्रेस (Congress) के इंद्रदत्त लखनपाल द्वारा नियम 130 के तहत लाई गई चर्चा पर सत्तापक्ष और विपक्ष के मध्य तीखी नोक-झोंक हुई। विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ. हंसराज को सदस्यों को शांत करने के लिए कई बार पीठ से व्यवस्था देनी पड़ी। चर्चा को आरंभ करते हुए कांग्रेस विधायक लखनपाल ने आईजीएमसी, टांडा और हमीरपुर मेडिकल कालेज में व्यवस्थागत खामियों को उजागर किया। उन्होंने कहा कि आईजीएमसी में अत्यधिक भीड़ है और तीन.तीन मरीजों को एक बैड पर रखा गया है। स्वास्थ्य सेवाओं में उत्कृष्ठता को लेकर गलत आंकड़े पेश कर सरकार वाहवाही लूट रही है। हमीरपुर मेडिकल कालेज में भ्रष्टाचार के मामले उजागर हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः जेबीटी शिक्षक की बर्खास्तगी टली, हाई कोर्ट से मिला स्टे

उन्होंने कहा कि यहां सीटी स्कैन दो सालों से बंद है और एमआरआई (MRI) की सुविधा नहीं है। चिकित्सकों के लिए आवास की कमी है। टांडा मेडिकल कालेज में भी एमआरआई दो सालों से खराब है। उन्होंने एमएमयू मेडिकल कालेज में भारी भरकम फीस का मुद्दा भी उठाया। साथ ही नेरचौक मेडिकल कालेज में एमआरआई सुविधा न होने पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने चंबा मेडिकल कालेज (Chamba Medical College) में डाक्टरों के न जाने का मामला उठाते हुए कहा कि इसका पता लगाया जाना चाहिए। उन्होंने अपने विधानसभा हलके बड़सर में डाक्टरों के साथ-साथ आयुर्वेद चिकित्सकों के खाली पदों का मामला भी सदन में उठाया।

चर्चा में भाग लेते हुए बीजेपी के बलबीर वर्मा ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार की तारीफ में कसीदे घड़े। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत की सौगात देश के करोड़ों लोगों को दी है। प्रदेश सरकार ने भी हिम केयर योजना के साथ-साथ मुख्यमंत्री चिकित्सा योजना को लागू किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 60 साल के शासन में सिर्फ 9 एम्स खुले थे। मोदी सरकार ने 60 सालों में 12 एम्स खोले हैं। इनमें से एक एम्स प्रदेश के बिलासपुर में भी खुला है। बलवीर वर्मा के सदन में बोलते हुए पक्ष और विपक्ष के सदस्यों के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। विपक्ष के सदस्य यह कहते हुए सुने गए कि आपने दलबदल किया है। इस पर विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि वह मृत्यु लोक जा सकते हैं, मगर कांग्रेस जैसी भ्रष्ट पार्टी में नहीं। इस पर बीजेपी सदस्यों ने मेज थपथपाई और विपक्ष ने कांग्रेस को भ्रष्ट कहने पर आपत्ति जताई। चर्चा में आशा कुमारी, सतपाल रायजादा, परमजीत सिंह पम्मी, नंद लाल ने भी चर्चा में हिस्सा लिया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल सोमवार को चर्चा का जवाब देंगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है