×

#Birdflu: पौंग झील में आज कितने प्रवासी पक्षी मिले मृत, कितना पहुंचा आंकड़ा- जाने

जवाली बीट में चार पक्षियों की हुई मौत, दो बार हेडिड गीज प्रजाति के

#Birdflu: पौंग झील में आज कितने प्रवासी पक्षी मिले मृत, कितना पहुंचा आंकड़ा- जाने

- Advertisement -

धर्मशाला। पौंग झील (Pong Lake) में आज विभिन्न प्रजातियों के चार प्रवासी पक्षी (Migratory Bird) मृत मिले हैं। इनमें से दो पक्षी बार हेडिड गीज प्रजाति के हैं। पौंग झील में अब तक 4970 पक्षियों की मौत हो चुकी है। पौंग झील में विदेश मेहमानों की मौत का सिलसिला थमता जा रहा है। पिछले दो दिन में 6 प्रवासी पक्षी मृत मिले हैं। इनमें चार बार हेडिड गीज (Bar Headed Geese) प्रजाति के हैं। 22 जनवरी को चार और पिछले कल यानी 23 जनवरी को दो प्रवासी पक्षी मृत मिले थे। यह सभी पक्षी जवाली बीट में मृत पाए गए हैं।


यह भी पढ़ें: #Birdflu : पौंग झील में अब क्या हैं हालात, कितने प्रवासी पक्षी मिले मृत- जानिए

बता दें कि पौंग झील में पिछले 28 दिन पहले प्रवासी पक्षियों के मृत मिलने का सिलसिला शुरू हुआ था। एकाएक बड़ी संख्या में पक्षी मृत पाए गए थे। मृत प्रवासी पक्षियों के सैंपल जांच को जालंधर भेजे गए। जालंधर में पक्षियों में बर्ड फ्लू (#Birdflu) की संभावना जताई गई। इसके बाद फाइनल रिपोर्ट के लिए पक्षियों के सैंपल बड़ी लैब भोपाल भेजे गए थे। भोपाल से पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी। बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद जिला प्रशासन अलर्ट हो गया था। डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने आदेश जारी कर पौंग झील के एक किलोमीटर एरिया को अलर्ट जाने घोषित किया है। साथ ही 9 किलोमीटर एरिया को निगरानी जोन घोषित किया गया है। साथ इंदौरा, फतेहपुर, जवाली व देहरा उपमंडल में चिकन, अंडा व मछली बिक्री पर रोक लगा दी गई थी, जोकि अभी भी जारी है। वहीं, कांगड़ा (Kangra) जिला में तीन कौवों में भी बर्ड फ्लू पाया गया था। राहत की बात यह है कि कांगड़ा जिला में पोल्ट्री में अब तक यह वायरस नहीं पाया गया है। हिमाचल में परवाणू-शिमला रोड पर फेंके मृत मुर्गों के अलावा बाकी में भी बर्ड फ्लू नहीं पाया गया है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है