Covid-19 Update

2,16,906
मामले (हिमाचल)
2,11,694
मरीज ठीक हुए
3,634
मौत
33,477,459
मामले (भारत)
229,144,868
मामले (दुनिया)

ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच हुआ Corona positive रत्ती की महिला का अंतिम संस्कार

ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच हुआ Corona positive रत्ती की महिला का अंतिम संस्कार

- Advertisement -

सुंदरनगर। हिमाचल प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस( Corona virus) के मामले प्रशासन और सरकार के लिए चिंता का विषय बनते जा रहे हैं। प्रदेश में पांच लोगों की मौत इस वायरस के चलते हो चुकी है। गत सोमवार को मंडी जिला के बल्ह के रत्ती वार्ड की कोरोना पाजिटिव महिला की मौत( Death) हो गई। इसके बाद जिला प्रशासन की ओर से मंगलवार यानी आज सुबह मृतक महिला का अंतिम संस्कार ( funeral)बल्ह की कंसा की सुकेती खड्ड के किनारे किया जाना था। लेकिन जैसे ही एम्बुलेंस के माध्यम से महिला का शव( Dead Body) कंसा के समीप पहुंचाया गया तो लोगों ने इस स्थान पर अंतिम संस्कार करने का विरोध जताया। जाहिर है सोमवार को जिला मंडी की नेरचौक नगर परिषद के वार्ड रत्ती निवासी महिला ने मेडिकल कॉलेज नेरचौक में दम तोड़ दिया। महिला किडनी रोग से भी पीड़ित थी और डायलिसिस पर थीं। वहीं मंगलवार सुबह महिला का अंतिम संस्कार बल्ह घाटी के कंसा चौक से बहने वाली सुकेती खड्ड में हिंदू रीतिरिवाजों के अनुसार स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बीच संपन्न कर दिया गया।


प्रशासन ने इस स्थान को किया है अंतिम संस्कार के लिए चिन्हित

जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 के कारण मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार के लिए इसी स्थान को चिन्हित किया गया है। लेकिन मृतक महिला के अंतिम संस्कार को लेकर मौके पर नगर परिषद के वार्ड डडौर के पार्षद आलमू राम और सुमन चौधरी ने लगभग 100 गांववासियों सहित जमकर हंगामा किया। यहां तक कि ग्रामीणों ने शव को जलाने के लिए चिन्हित स्थान तक ले जाने वाले रास्ते पर पत्थर फैंक कर उस पर अवरोध किया गया। मौके पर स्थित खराब होती देखकर डीएसपी अनिल पटियाल और थाना प्रभारी बल्ह राजेश ठाकुर ने वहां पर पहुंचे पार्षदों सहित अन्य लोगों को समझाया। लेकिन लोग महिला का अंतिम संस्कार कंसा के बजाय रत्ती वार्ड में कराने की बात पर पर अड़े रहे। वहीं मौके पर एसडीएम बल्ह आशीष शर्मा ने भी आकर लोगों को इस स्थान को कोविड-19 से मृत्यु होने वाले मरीज के अंतिम संस्कार करने के लिए चिन्हित होने के बारे में जानकारी दी और लोगों को शांत करवाया।

डीसी बोले- प्रशासन को दें लोग आकर सुझाव 

इस दौरान सुकेती खड्ड का यह क्षेत्र पुलिस छावनी में तबदील हो गया था और मौके पर मंडी पुलिस की क्यूआरटी के कंमाडो सहित दर्जनों पुलिस बल मौजूद रहा। पार्षदों सहित लोगों का इस बात को लेकर विरोध था कि महिला स्थानीय निवासी है और जब उनके वार्ड रत्ती में श्मशान घाट मौजूद है इसलिए उनका अंतिम संस्कार वहां किया जाना चाहिए। पार्षदों ने कहा कि इससे पहले जब हमीरपुर निवासी का दाह संस्कार किया गया था तो मानवीयता के आधार पर ग्रामीणों ने उसका कोई विरोध नहीं किया था। ग्रामीणों ने कहा कि भविष्य में भी ग्रामीणों का विरोध जारी रहेगा। उधर मामले को लेकर दूरभाष के माध्यम से डीसी मंडी ऋगवेद ठाकुर ने कहा कि जिला प्रशासन की ओर से जो जगह शव को जलाने के लिए चिन्हित की गई है। उसी जगह पर महिला का अंतिम संस्कार किया गया है। अगर किसी का कोई भी सुझाव है तो वे प्रशासन को आकर बता सकते हैं।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है