Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

गोविंद बोले, Corona संकट में Congress नेताओं ने घर बैठकर सेंकी राजनीतिक रोटियां

गोविंद बोले, Corona संकट में Congress नेताओं ने घर बैठकर सेंकी राजनीतिक रोटियां

- Advertisement -

कुल्लू। वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर (Forest Minister Govind Singh Thakur) ने कहा है कि कांग्रेस ने कोरोना संकट (Corona crisis) के दौरान भी राजनीतिक रोटियां सेंकने से परहेज नहीं किया। कांग्रेस के नेता (Congress leaders) संकट की इस घड़ी में कहीं नजर नहीं आए और केवल घर बैठकर बयानबाजी करते रहे। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश पर संकट के दौरान राजनीति से ऊपर उठकर मानवता की सेवा के लिए सभी को आगे आना चाहिए। यह दुखद है कि कुछ लोग समाज की संवेदनशीलता को नहीं समझ पाते, केवल अपना स्वार्थ साधने में लगे रहते हैं।

यह भी पढ़ें : हिमाचल में Corporation-Board के कोरोना योद्धाओं की मौत पर भी 50 Lakh देगी सरकार

बीजेपी कार्यकर्ताओं से आग्रह- आम जनता की समस्याओं को समझें
गोविंद ठाकुर ने बीजेपी कार्यकर्ताओं (BJP workers) से आग्रह किया कि वे आम जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं को समझें और हर संभव सहायता प्रदान करें। उन्होंने जनता से लगातार संवाद करते रहने की सलाह देते हुए कहा कि इससे फीडबैक भी प्राप्त होती है जो आम लोगों की समस्याओं के निराकरण में सहायक सिद्ध होती है। गोविंद रविवार को परिधि गृह कुल्लू से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से कुल्लू बीजेपी मंडल (Kullu BJP Mandal) के पदाधिकारियों, सदस्यों तथा आम लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान सांसद राम स्वरूप शर्मा (Ram Swaroop Sharma) सहित 300 से ज्यादा लोग वीडियो कान्फ्रेंसिंग से जुड़े।

हिमाचल प्रदेश को हुआ 30 हजार करोड़ का नुकसान
गोविंद ठाकुर ने कहा कि कोरोना काल के दौरान हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) को 30 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है। सीएम जय राम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने गरीबों, जरूरतमंदों, किसानों व बागवानों तथा बाहरी प्रदेशों में फंसे नागरिकों के प्रति इस दौरान जिस संजीदगी के साथ काम किया है, उसकी सराहना राष्ट्रीय स्तर पर की गई है। वर्तमान सरकार का अभी अढाई वर्ष का कार्यकाल पूरा हुआ है, लेकिन कोरोना जैसा महासंकट इससे पहले कभी भी देश और प्रदेश के इतिहास में नहीं आया। सीएम जयराम ने इस दौरान सूझबूझ के साथ नीतियां बनाई और जमीन पर उतारने के लिए स्वयं दिन-रात डटे हैं। बाहरी प्रदेशों में फंसे प्रदेश के 1.95 लाख लोगों को घर पहुंचाने का बड़ा कार्य किया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है