Covid-19 Update

2, 52, 042
मामले (हिमाचल)
2, 33, 188
मरीज ठीक हुए
3892*
मौत
38,218,773
मामले (भारत)
339,486,288
मामले (दुनिया)

हिमाचल: क्रशर उद्योग संघ ने सीएम जयराम सहित पुलिस प्रशासन को दे डाली चेतावनी, जाने क्यों

माइनिंग को मनी लॉन्ड्रिंग के बराबर रखने पर क्रशर उद्योग संघ पुलिस विभाग से हुआ खफा

हिमाचल: क्रशर उद्योग संघ ने सीएम जयराम सहित पुलिस प्रशासन को दे डाली चेतावनी, जाने क्यों

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश क्रशर उद्योग संघ (Himachal Pradesh Crusher Industries Association) ने पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र ठाकुर डिंपल ने हाल ही में पुलिस द्वारा फेसबुक (Facebook) पर माइनिंग को मनी लांड्रिंग के बराबर रख कर कार्रवाई करने की चेतावनी का कड़ा विरोध किया है। इसके साथ ही संघ ने सीएम जयराम ठाकुर को भी नसीहत दी है कि हाल ही में हुए विधानसभा और लोकसभा के उपचुनाव में सरकार को जो हार का मुंह देखना पड़ा है, उसमें कहीं ना कहीं पुलिस समेत अन्य विभागों की मनमानी का ठीकरा सरकार के सिर फूटा है। इतना ही नहीं क्रशर उद्योग संघ ने प्रदेश सरकार को प्रदेश भर में हर एक यूनिट बंद करने की चेतावनी (Warning) भी दे डाली है। वही जल्द ही प्रदेश स्तर पर भी इसी संबंध में बैठक कर आगामी रणनीति बनाने का ऐलान कर दिया है।

यह भी पढ़ें: करूणामूलक संघ ने सरकार की सद्बुद्धि के लिए करवाया यज्ञ, विधानसभा घेराव करने की दी चेतावनी

 

 

मंगलवार को संघ की जिला स्तरीय बैठक में प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र सिंह डिंपल ने विशेष रूप से शिरकत करते हुए हिमाचल प्रदेश पुलिस द्वारा फेसबुक पर डाली गई इस पोस्ट का कड़ा विरोध जताया। इसके साथ ही उन्होंने जल्द ही प्रदेश स्तर पर बैठक करते हुए इस मामले में मोर्चा खोलने के लिए आगामी रणनीति बनाने का ऐलान कर डाला है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पुलिस ने क्रशर उद्यमियों को सीधे सीधे तौर पर चोर की संज्ञा दी है। उन्होंने आरोप जड़ा कि हिमाचल प्रदेश की पुलिस पंजाब और अन्य राज्यों से आने वाले हेरोइन नामक नशे को रोकने में तो नाकाम रही है, लेकिन विकास कार्यों में अहम भूमिका निभाने वाले क्रशर उद्योग संघ को पूरी तरह से मिट्टी में मिलाने के लिए कमर कस ली गई है। उन्होंने कहा कि एक तरफ सीएम जयराम (CM Jai Ram Thakur) और उद्योग मंत्री हिमाचल प्रदेश में मैकेनिकल माइनिंग की अनुमति देने की बात कर रहे हैं। जबकि दूसरी तरफ पुलिस प्रशासन इस वर्ग के उद्योगपतियों को प्रताड़ित करने में जुटा है। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही प्रदेश सरकार ने पुलिस पर लगाम ना कसी तो हिमाचल प्रदेश के सभी क्रशर उद्योग यूनिट बंद किए जाएंगे। उसके बाद सरकार प्रदेश की पुलिस से ही तमाम विकास कार्य करवा सकती है।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है