Covid-19 Update

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

पीस मील वर्करों को नये साल का तोहफा, HRTC ने अधिसूचित की अनुबंध पॉलिसी

एचआरटीसी जॉब रेट आधार पर अब पीस मील वर्करों की नहीं करेगी भर्ती

पीस मील वर्करों को नये साल का तोहफा, HRTC ने अधिसूचित की अनुबंध पॉलिसी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में लंबे समय से संघर्षरत पीसमील वर्करों (Peace Meal Worker) को आज नए साल का तोहफा मिला है। हिमाचल पथ परिवहन निगम ने पीस मील वर्करों को अनुबंध पर लाने की पॉलिसी (Contract Policy)अधिसूचित कर दी है। इस पॉलिसी की अधिसूचना जारी होने के बाद पीस मील वर्करों ने राहत की सांस ली है। वहीं एचआरटीसी ने एक बड़ा फैसला लेते हुए अब भविष्य में जॉब रेट (Job Rate) आधार पर पीस मील वर्करों को भर्ती नहीं करने का फैसला लिया है। मंगलवार को पीस मील वर्करों को पॉलिसी पर लाए जाने से संबंधित अधिसूचना एचआरटीसी (HRTC) के प्रबंध निदेशक संदीप कुमार की ओर से जारी की गई है। बता दें कि पिछले माह इन 989 पीस मील वर्करों ने अपनी मांगों को लेकर टूल डाउन हड़ताल की थी। यह हड़ताल 20 दिन से भी ज्यादा चली थी। उनकी इस हड़ताल में तकनीकी कर्मचारियों ने भी शामिल होकर इन्हें मजबूती प्रदान की थी।


यह भी पढ़ें: हिमाचलः अनुबंध कर्मचारी दो साल में होंगे नियमित,दैनिक वेतनभोगियों -अंशकालिकों को भी सौगात

पीसमील वर्करों की इस हड़ताल (Strike) से कई बसें मरम्मत के लिए वर्कशाप में खड़ी हो गई थी। जिससे प्रदेश भर के कई रूट प्रभावित होने लगे थे। जिसके बाद प्रदेश सरकार ने इन्हें अनुबंध नीति के तहत लाने का फैसला ले लिया था। रिक्त पदों के हिसाब से पीस मील वर्करों को लाभ दिया जाएगा। पहले चरण में आईटीआई ITI) व पांच साल का अनुभवए नान आईटीआई व छह साल के अनुभव वालों को प्राथमिकता मिलेगी। वर्तमान में ऐसे 755 पीस मील वर्कर पात्र हैं। 1 दिसंबर 2021 तक रिक्त 631 पदों पर इन्हें नियुक्तियां दी जाएंगी। शेष पीस मील वर्करों को 31 मार्च व 30 सितंबर 2022 तक रिक्त होने वाले पदों के अनुसार अनुबंध पर लाया जाएगा। बीते दिनों हिमाचल पथ परिवहन निगम के निदेशक मंडल (बीओडी) की बैठक में यह फैसला लिया गया था। अब इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है