Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

Nahan नगर परिषद ने दी शहरवासियों को राहत, कर्मचारियों का भी रखा ख्याल

नगर परिषद ने बैठक में कोरोना काल को लेकर लिए कई अहम फैसले

Nahan नगर परिषद ने दी शहरवासियों को राहत, कर्मचारियों का भी रखा ख्याल

- Advertisement -

नाहन। कोरोना (Corona) संकटकाल को देखते हुए नगर परिषद नाहन ने कई अहम फैसले लिए हैं, जिसमें मई व जून महीने में जहां शहरवासियों को राहत दी गई है, वहीं नगर परिषद (Nagar Parishad) के कर्मचारियों का भी विशेष ख्याल रखा है। नगर परिषद नाहन की मासिक बैठक बुधवार को नगर परिषद कार्यालय में आयोजित हुई। नगर परिषद अध्यक्ष श्यामा पुंडीर की अध्यक्षता में आयोजित इस अहम बैठक में कोविड-19 (Covid-19) को लेकर विशेष चर्चा की गई। साथ ही कई अहम निर्णय लिए गए। इस बारे में नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी अजमेर सिंह ठाकुर ने विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नगर परिषद ने निर्णय लिया है कि शहर में किसी भी व्यक्ति की कोरोना या अन्य किसी भी प्रकार से मृत्यु होती है, तो शव वाहन के जो 800 रुपये चार्जिज रखे गए थे, वह मई व जून महीने में नहीं लिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य विभाग की सलाह, Covid के हल्के लक्षण होने पर होम क्वारंटाइन रहें मरीज

इसके अलावा बांकूवाला में श्मशानघाट में नगर परिषद द्वारा लकड़ी की एवज में वसूली जाने वाली राशि भी नहीं ली जाएंगी। आगामी दो महीने में लकड़ी की पेमेंट नहीं ली जाएगी। समाजसेवी संस्था मुक्तिधाम द्वारा भी 150 टन लकड़ी की व्यवस्था की गई है। ये भी पूरी तरह से निशुल्क होगी। कार्यकारी अधिकारी ने यह भी बताया कि मई व जून महीने में कोरोना संकटकाल को देखते हुए डोर-टू-डोर कचरे की एवज में सरकारी दफ्तरों को छोड़कर शहर में किसी भी घर से कोई राशि नहीं वसूली जाएगी, जबकि घरों से कचरा एकत्रित करने का कार्य निरंतर चलता रहेगा। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में नगर परिषद के जो कर्मचारी कोविड मरीजों को उठा रहे हैं, एंबुलेंस में है या फिर घरों से संक्रमित व्यक्तियों का कचरा उठाने आदि कोविड कार्यों में लगे हैं, उन कर्मचारियों को मई व जून महीने में वेतन के अलावा 2500 रुपये अतिरिक्त इंसेंटिव (Incentive) दिया जाएगा। इसके अलावा अन्य सफाई कर्मचारियों व सैनिटाइजेशन (Sanitization) के कार्य में लगे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को भी दो महीने तक वेतन के अलावा एक हजार रुपये का अतिरिक्त इंसेंटिव दिया जाएगा। नगर परिषद के अधीन आने वाली दुकानों, गैराज इत्यादि का भी किराया मई व जून महीने में ना लिए जाने का फैसला भी नगर परिषद ने लिया है। हालांकि इसके बाद यह किराया लिया जाएगा


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है