हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

विटामिन बी 12 की कमी के कारण पैदा हो जाते हैं कई रोग, जानिए क्यों जरूरी है

मुंह या जीभ में दर्द, हाथ-पैरों का सुन्न हो जाना आदि होते हैं लक्षण

विटामिन बी 12 की कमी के कारण पैदा हो जाते हैं कई रोग, जानिए क्यों जरूरी है

- Advertisement -

शरीर अगर  तंदुरुस्त ना रहे (If the body is not healthy) तो मनुष्य जीवन में सफल नहीं हो पाता है। इसलिए बहुत जरूरी है कि शरीर को  तंदुरुस्त  रखा जाए। हमें विशेष रूप से अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए। शरीर को तंदुरुस्त रखने में विटामिन बी 12 (Vitamin B 12) का भी बहुत महत्व होता है। यह हमारी बॉडी की नर्वस सेल्स (Nerve Cells) को स्वस्थ रखता है। वहीं यह बॉडी के लाल रक्त कण और डीएनए बनाने में भी मदद करता है। हमारे शरीर में विटामिन बी12 की कमी भी हो सकती है। तो आज हम आपको बताते हैं कि शरीर में विटामिन बी12 की कमी आखिर क्यों होती है।

यह भी पढ़ें:अगर बार- बार हो रहा है सर्दी जुकाम, तो एक बार जरूर ट्रॉय करें ये घरेलु नुस्खे

इस संबंध में डॉ तोमर (Dr. Tomar) का कहना है कि हमारे शरीर को रोजाना 2.4 एमजीसी विटामिन बी12 की जरूरत होती है। विशेषकर गर्भवती महिलाओं और शिशुओं को स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को तो इसकी बहुत ही जरूरत होती है। वहीं उम्र के लिहाज से भी बच्चों को विटामिन बी 12 की मात्रा अलग-अलग हो सकती है। हमारे शरीर में विटामिन बी 12 की कमी से एनीमिया (Anemia) जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। विटामिन बी 12 की कमी से थकान या कमजोरी महसूस होती है। वहीं उल्टी, दस्त  होते हैं। वहीं भूख नहीं लगती है और वजन घट जाता है। इसके अरिक्ति इसकी कमी के कारण मुंह या जीभ में दर्द होता है और त्वचा पीली हो जाती है। वहीं हाथ-पैरों सुन्न हो जाते हैं और आंखों की रोशनी कम हो जाती है। शरीर में विटामिन बी12 की कमी पूरा करने के लिए दही, पनीर, प्रोटीन और विटामिन बी 12 सहित कई विटामिन और खनिजों का उपयोग किया जा सकता है। वहीं एक कप दूध में 240 मिलीलीटर विटामिन बी 123 पाया जाता है। यह रोजाना जरूरत की का 46 प्रतिशत हिस्सा है। पनीर भी विटामिन बी 12 का एक बहुत अच्छा जरिया है। 22 ग्राम पनीर में विटामिन बी 12 की लगभग 28 प्रतिशत (About 28 percent of vitamin B12 in 22 grams of cottage cheese) जरूरत पूरी हो जाती है। यदि आप वेजिटेरियन हैं तो भी आप घबराएं नहीं। इसकी कमी को पूरा करने लिए आप कुछ फूड्स को इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं विटामिन बी 12 सेल्स के लिए जरूरी विटामिन है।यह नसों, ब्लड सेल्स और डीएनए को हेल्दी रखने में अहम भूमिका निभाता है। एनिमल प्रोडक्ट्स में यह विटामिन होता है। मीटए अंडा और डेयरी प्रोडक्ट्स इसके अच्छे सोर्स हैं।

vitamin-b-12

vitamin-b-12

यदि समय पर ध्यान नहीं दिया तो भुगतने पड़ सकते हैं गंभीर परिणाम

यदि हमारे शरीर में विटामिन बी12 की कमी है तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। इसके कारण ब्लड डेफिशियेंसी आदि हो सकती है। शाकाहारी लोगों के लिए इस बारे में ज्यादा सचेत रहने की जरूरत होती है। उनको पता होना चाहिए कि उनके लिए   विटामिन    बी 12 कहां से आ रहा है। विटामिन बी 12 के कुछ शाकाहारी सोर्स हैं, इनमें डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे दूध और पनीर (Dairy products like milk and cheese) शामिल हैं। जो शाकाहारी हैं उनको एक कप 1 कप कम फुल क्रीम दूध में 1.2 माइक्रोग्राम  या (डीवी) का 50 प्रतिशत, फुल क्रीम दही के 8 औंस में 1.1 एमसीजी ए या डीवी का 46 प्रतिशत, स्विस चीज़ के 1 औंस में 0.9 एमसीजी ए या डीवी का 38 प्रतिशत का सेवन करें। इसके अतिरिक्त नाश्ते के साथ दही, दोपहर के भोजन के रूप में दूध और नाश्ते के रूप में पनीर के कुछ स्लाइस खाने की कोशिश करें। विटामिन बी12 से भरपूर खाद्य पदार्थ इसकी रोजाना जरूरत को पूरा करने में मदद करते हैं। ये शाकाहारियों के लिए बी 12 का आसानी से उपलब्ध सोर्स हैं। फोर्टिफाइड अनाज नाश्ते का अच्छा ऑप्शन है। इसमें अक्सर 25% तक बी 12 हो सकता है। हालांकि यह अलग-अलग ब्रांड में अलग हो सकता है।  फोर्टिफाइड फूड आइटम आमतौर पर बॉडी के लिए पचने में आसान होते हैं जिसका अर्थ है कि इससे बॉडी को विटामिन बी12 आसानी से मिल जाता है। इसके लिए खमीर भी बहुत उपयोगी होता है। इसमें न्यूट्रिशन होता है जो उपयोगी होता है। वहीं फोर्टिफाइड न्यूट्रिशन खमीर का एक बड़ा चम्मच 2ण्4 एमसीजी बी12 प्रदान करता है। शाकाहारी लोग सॉस, मिर्च या करी में खमीर मिला सकते हैं। हेल्दी स्नैक या नाश्ते के लिए पॉपकॉर्न पर खमीर छिड़कें (Sprinkle Yeast on Popcorn) । वहीं कुछ मशरूम जैसे कि शिटेक में भी विटामिन बी 12 होता है। हालांकि इसका लेवल कम होता है। इसके लिए 50 सूखा शिटेक मशरूम खाना चाहिए। मगर रोजाना मशरूम भी नहीं खाया जा सकता। इसलिए  ऐसे में बी 12 के स्रोत वाली डाइट को बदलना सबसे अच्छा है। यह उन लोगों के लिए एक अच्छा ऑप्शन है, जो मशरूम पसंद करते हैं। एक बी 12 बूस्टर वाले टेस्टी लंच या डिनर के लिए खाने में बी 12 युक्त शिटेक मशरूम शामिल कर सकते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है