Covid-19 Update

2,27,518
मामले (हिमाचल)
2,22,911
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,633,255
मामले (भारत)
265,951,834
मामले (दुनिया)

हिमाचल में जल्द मिलेगी मैकेनिकल माइनिंग की अनुमतिः जनमंच में बोले बिक्रम ठाकुर

हिमाचल में जल्द मिलेगी मैकेनिकल माइनिंग की अनुमतिः जनमंच में बोले बिक्रम ठाकुर

- Advertisement -

ऊना। उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में जल्द ही मैकेनिकल माइनिंग की अनुमति प्रदान की जा सकती है। इसके अलावा ऊना जिला में प्रतिबंधित चल रही ओपन सेल लीज को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की अगली अनुमति का इंतजार रहेगा। यह बात उद्योग मंत्री ने जिला ऊना की गगरेट विधानसभा क्षेत्र के मुबारिकपुर में रविवार को 24वें जनमंच कार्यक्रम के दौरान कही। इस दौरान उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर ने यहां पर जन समस्याएं सुनी, वहीं अधिकारियों से भी प्री-जनमंच में की गई गतिविधियों की रिपोर्ट तलब की गई। मुबारिकपुर में आयोजित जनमंच में गगरेट विधानसभा क्षेत्र के तहत आती 10 पंचायतों के दर्जनों लोगों ने अपनी समस्याएं उद्योग मंत्री के समक्ष रखी जिसमें से अधिकतर समस्यायों का मौके पर निपटारा कर दिया जबकि शेष समस्यायों के शीघ्र समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।

ये भी पढ़ेः सिरमौर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, चरस की खेप समेत आरोपी गिरफ्तार

इस मौके पर बिक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि जन मंच कार्यक्रम प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना साबित हुई है। जिसमें सरकार जनता के द्वार पहुंचकर उनकी समस्याओं का निवारण करती है। वहीं सरकारी विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी मौके पर मौजूद रहकर जवाब देना पड़ता है। विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि जनमंच अभियान कांग्रेस के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द बन चुका है। कांग्रेस द्वारा जनमंच पर लगातार किए जा रहे कटाक्ष साबित करते हैं कि सरकार और जनता के बीच संवाद स्थापित करने वाली यह योजना कितनी कारगर है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है