Covid-19 Update

2,86,414
मामले (हिमाचल)
2,81,601
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,502,429
मामले (भारत)
554,235,320
मामले (दुनिया)

हिमाचल में तपने लगे पहाड़, अगले 10 कैसा रहेगा मौसम; क्या गर्मी से मिलेगी राहत-जाने

मौसम विभाग ने अगले 10 दिन मौसम साफ रहने के जताए आसार

हिमाचल में तपने लगे पहाड़, अगले 10 कैसा रहेगा मौसम; क्या गर्मी से मिलेगी राहत-जाने

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में गर्मी अपना रंग दिखाने लगी है। मार्च माह में ही जून जैसी गर्मी का अहसास हो रहा है। मार्च महीने में जहां पहाड़ों पर मौसम सर्द बना रहता था। वहीं इस बार मार्च महीने में गर्मी ने कई सालों के रिकॉर्ड तोड़ दिए है। 31 मार्च को ऊना में दस साल बाद 39 डिग्री तापमान रिकॉर्ड (Record) किया गया। इसके अलावा सोलन सहित अन्य शहरों में भी तापमान में काफी बढ़ोतरी हुई है। वहीं, अप्रैल महीने में भी इस बार रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ने के आसार हैं।

यह भी पढ़ें:तपती गर्मी से अभी कोई राहत नहीं, अप्रैल में भी रहेगा सामान्य से अधिक तापमान

मौसम विभाग (Meteorological Department) के अनुसार प्रदेश में आगमी दस दिन मौसम साफ बना रहेगा, जिससे तापमान में और अधिक बढ़ोतरी हो सकती है।मौसम विभाग ने मैदानी इलाकों में लू चलने को लेकर अलर्ट (Alert) भी जारी किया है। ऐसे में आगमी दिनों में भी भीषण गर्मी पड़ने के आसार है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार प्रदेश में आगामी चार दिनों तक मौसम साफ रहने की संभावना है। ऐसे में इस दौरान पारा और चढ़ेगा। वहीं आगामी 8 से 10 दिनों तक बारिश की कोई भी संभावना नहीं है। ऐसे में प्रदेश का मौसम शुष्क बना रहेगा। प्रदेश के जिला कुल्लू, कांगड़ा, लाहुल स्पीति और सोलन में रिकॉर्ड तापमान दर्ज किया गया है।

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पॉल (Director of Meteorological Center Shimla Surendra Paul) ने बताया कि इस वर्ष मार्च में अधिकतम तापमान असामान्य रूप से अधिक रहा है। कांगड़ा, कुल्लू, लाहुल-स्पीति और सोलन जिले में पिछले रिकॉर्ड तोड़ते हुए मार्च 2022 में अब तक का सबसे उच्च तापमान (High Temperature) दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि अगले 8 से 10 दिनों के दौरान हिमाचल प्रदेश के ज्यादातर भागों में मौसम शुष्क रहेगा। दो से तीन दिनों में थोड़ी गिरावट की संभावना को छोड़कर मौजूदा गर्म परिस्थितियों से कोई बड़ी राहत की उम्मीद नहीं है। उन्होंने बताया कि मार्च माह में बारिश पूरे प्रदेश में सामान्य से कम हुई है। सिरमौर में सबसे कम बारिश दर्ज की गई है और जिला कुल्लू में मार्च माह में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई है। प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ कम आने की वजह से और ग्लोबल वार्मिग के परिवर्तन का असर दिखने की वजह से तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है