Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

हिमाचल में बारिश का तांडव: 4 दिन और बिगड़ेंगे हालात, इन जिलों में बाढ़ का अलर्ट

प्रदेश भर में बारिश भूस्खलन से कई सड़कें बंद, 28 तक खराब रहेगा मौसम

हिमाचल में बारिश का तांडव: 4 दिन और बिगड़ेंगे हालात, इन जिलों में बाढ़ का अलर्ट

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में पिछले तीन दिन से मौसम बिगड़ा हुआ है। प्रदेश भर में रूक रूक कर बारिश हो रही है। इस बारिश (Rain) से प्रदेश भर के कई क्षेत्रों में सड़क बिजली और पानी की व्यवस्था चरमरा गई है। मौसम विभाग के अलर्ट के बीच रविवार को हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला समेत अन्य भागों में झमाझम बारिश हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र (Meteorological Department) शिमला ने 22 और 26 अगस्त के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। पूरे प्रदेश में 28 अगस्त तक मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है। मौसम विभाग ने बिलासपुर, चंबा, कांगड़ा, मंडी, शिमला, सोलन, सिरमौर जिले के लिए भारी बारिश का अलर्ट (Alert) जारी किया है। जबकि हिमाचल के लिए जारी नेशलन फ्लैश फ्लड गाइडेंस बुलेटिन के अनुसार प्रदेश के चार जिलों शिमला, कुल्लू, चंबा और किन्नौर के कई भागों में 23 अगस्त को बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है। जिला प्रशासन ने पर्यटकों व स्थानीय लोगों को नदी-नालों से दूर रहने की सलाह दी गई है।

यह भी पढ़ें: शिमला में सड़क किनारे खड़े कैंटर पर गिरा पेड़, लग गया जाम

 

 

शिमला में हर विभाग को हो रहा नुकसान

राजधानी शिमला (Shimla) में देर रात से हो रही भारी बारिश से कई जगह भूस्खलन (Landslide) हुआ है। शहर में जगह-जगह हरे पेड़ उखड़ गए हैं। खलीनी के पास पेड़ गिरने से सड़क किनारे खड़ा एक ट्रक बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। साथ ही सड़क वाहनों की आवाजाही के लिए ठप हो गई। वहीं पेड़ गिरने से कई जगह बिजली के खंभे टूट गए, जिससे विद्युत आपूर्ति ठप हो गई। वहीं विकासनगर में भी देवदार के दो पेड़ एक साथ गिर गए। इससे बिजली का ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हो गया है। जिससे देर रात से ही इलाके में बिजली गुल है। गिरि पेयजल परियोजना में फिर गाद आने से शिमला शहर के लिए पानी की आपूर्ति बाधित हो गई है। शहर में अभी ज्यादातर इलाकों में तीसरे दिन ही पानी दिया जा रहा है। भारी बारिश से ढली बाईपास पर पत्थर गिरने का एक बार फिर शुरू हो गया है। यहां रुक-रुक कर पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं, जिससे सफर खतरे से खाली नहीं है। वहीं छराबड़ा व हसन वैली में भी एनएच पर भूस्खलन की सूचना है। किन्नौर (Kinnaur) और ऊपरी शिमला में भी मौसम खराब बना हुआ है।

 

यह भी पढ़ें: हिमाचल में गरजे बादल, यहां भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी; जाने कब तक सताएगा मौसम

 

 

कुल्लू में 10 सड़कें बंद, सेब तुड़ान पर असर

कुल्लू (Kullu) जिले में बारिश से 10 से अधिक सड़कें बंद हैं। जिले में तीन दिनों से बारिश दौर जारी है। इससे सेब का तुड़ान नहीं होने से बागवानों को लाखों का नुकसान उठाना पड़ रहा है। सड़कों के बंद होने से भी सेब मंडियों तक नहीं पहुंच पा रहा है। सिरमौर में भूस्खलन से चार सड़कें (Road) फिर बंद हो गई हैं। शिलाई मंडल में सड़क पर भूस्खलन का खतरा बढ़ गया है। पांवटा साहिब-शिलाई एनएच की हालत बेहद खस्ता है। सड़क पर हादसों का खतरा बना हुआ है।

 

 

हमीरपुर में स्लेटपोश मकान गिरा, बाल-बाल बचा परिवार

हमीरपुर के पट्टा में भारी बारिश से स्लेटपोश मकान गिर गया। मकान में सो रहा परिवार बाल-बाल बच गया। हादसा रात तीन बजे हुआ। कालका-शिमला एनएच पर रविवार को भी कई जगहों पर भूस्खलन हुआ। इसको देखते हुए कंपनी ने एनएच पर पेट्रोलिंग टीमों की संख्या बढ़ाई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है