Covid-19 Update

2, 85, 003
मामले (हिमाचल)
2, 80, 796
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,134,332
मामले (भारत)
526,876,304
मामले (दुनिया)

ब्रेकिंगः नहीं रहे पद्मश्री चरणजीत सिंह, सुबह पांच बजे ली अंतिम सांस

शाम चार बजे ऊना के मोक्षधाम में उनका अंतिम संस्‍कार होगा।

ब्रेकिंगः नहीं रहे पद्मश्री चरणजीत सिंह, सुबह पांच बजे ली अंतिम सांस

- Advertisement -

ऊना। पूर्व ओलंपियन और पद्मश्री चरणजीत सिंह ( Padmashree Charanjit Singh)का गुरुवार सुबह निधन हो गया है। वे पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे। आज सुबह पांच बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। चरणजीत सिंह 1964 के टोक्यो ओलंपिक( Tokyo Olympics ) में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के कप्तान थे।

यह भी पढ़ें- चंबा में करंट लगने से युवक की मौत, मंडी में ढांक से गिरा अधेड़

उन्हें अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था। उनके निधन से खेल जगत सहित जिला ऊना में शोक की लहर है। चरणजीत सिंह का जन्म 3 फ़रवरी 1931, ऊना में हुआ था। वह हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला में शारीरिक शिक्षा विभाग के निदेशक पद पर भी रहे हैं। 1964 में उन्‍होंने देश के लिए स्‍वर्ण पदक जीता था। बताया जा रहा है कि वह लंबे समय से अधरंग से पीडि़त थे। शाम चार बजे ऊना के मोक्षधाम में उनका अंतिम संस्‍कार होगा। सीएम जयराम ठाकुर ने उनके निधन पर शोक जताया है।

 

चरणजीत सिंह  पीरनिगाह रोड पर मैड़ी में रहते थे। वह 949 में पंजाब यूनिवर्सिटी की हॉकी टीम में शामिल हुए है और बाद में उन्हें यूनिवर्सिटी टीम का कप्तान बनाया गया। साल 1950 में उन्हें भारतीय हॉकी टीम में चुना गया। 1951 और 1955 में पाकिस्तान गई भारतीय टीम में चरणजीत सिंह को शामिल किया गया। 1959 में यूरोप दौरे के लिए गई भारतीय टीम का भी चरणजीत सिंह हिस्सा रहे। रोम ओलंपिक के लिए टीम में चरणजीत सिंह को शामिल किया गया था। लेकिन वह इस स्पर्धा के फाइनल मुकाबले में नहीं खेल पाए । .साल 1961 में उन्हे भारतीय टीम का उपकप्तान बनाया गया। बाद में उनके नेतृत्व में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीता। चरणजीत सिंह को उन्हें 1963 में अर्जुन अवॉर्ड और 1964 में उन्हें पदम श्री प्रदान किया गया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है