Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,392,486
मामले (भारत)
228,078,110
मामले (दुनिया)

Rajasthan की सियासत में उलझे राहुल: पायलट से कहा-दरवाजे खुले हैं, फिर बोले- जो चाहे वह जा सकता है

Rajasthan की सियासत में उलझे राहुल: पायलट से कहा-दरवाजे खुले हैं, फिर बोले- जो चाहे वह जा सकता है

- Advertisement -

नई दिल्ली। राजस्थान (Rajasthan) कांग्रेस में जारी सियासी कलह की खबरों के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से जुड़ी दो बड़ी खबरें सामने आ रही हैं। इन दोनों खबरों से ऐसा मालूम पड़ता है कि राहुल गांधी के बार फिर अपने दिए गए दो अलग-अलग कथन से असमंजस की स्थिति में उलझ गए हैं। दरअसल, एक तरफ राहुल गांधी ने कांग्रेस के बागी माने जा रहे नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) को संदेश भेजकर यह कहा है कि पायलट पार्टी के सदस्य हैं और पार्टी के दरवाजे उनके लिए हमेशा खुले हैं। वहीं दूसरी तरफ केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने एनएसयूआई (NSUI) की बैठक में कहा है कि यदि कोई पार्टी से जाना चाहता है, तो वह जा सकता है। अब ऐसे में राहुल के इन दोनों कथनों में एक-दूसरे के लिए विरोधाभास होने के कारण लोग यह समझ नहीं पा रहे हैं कि राहुल गांधी का पलड़ा किस तरफ को जाएगा।

यदि पायलट माफी मांग लेते हैं, तो वह वापस आ सकते हैं

बतौर रिपोर्ट्स सचिन पायलट के लिए भेजे संदेश में राहुल ने साफ कहा है कि सचिन पायलट पार्टी के सदस्य हैं और पार्टी के दरवाजे उनके लिए हमेशा खुले हैं। साथ ही सीएम अशोक गहलोत को सार्वजिनक बयान नहीं देने के लिए भी कहा गया है। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी आलाकमान भी सचिन पायलट पर निजी हमले से सीएम अशोक गहलोत से नाराज है। इससे पहले कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि यदि सचिन पायलट माफी मांग लेते हैं, तो उनके लिए पार्टी के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं। वह वापस आ सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ राहुल गांधी ने एनएसयूआई की बैठक में कहा, ‘अगर कोई पार्टी छोड़ना चाहता है तो वह छोड़ देगा। इससे आप जैसे युवा नेताओं के लिए दरवाजे खुलते हैं।’ हालांकि, अपनी इस टिप्पणी में राहुल ने सचिन पायलट समेत किसी नेता का नाम नहीं लिया।

यह भी पढ़ें: CM Gehlot की खरी-खरी: सरकार गिराने के लिए किस्तों की डील कर रहे थे Pilot; मेरे पास हैं सबूत

गौरतलब है कि राजस्थान की राजनीति में मंगलवार दोपहर उस समय सचिन पायलट को करारा झटका लगा था, जब कांग्रेस ने विधायक दल की बैठक में न आने के बाद उन्हें डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया था। सचिन के साथ-साथ उनके करीबी दो मंत्रियों को भी मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया था। पायलट को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं, कि वे बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। हालांकि, पायलट ने बुधवार सुबह बीजेपी में शामिल होने की सभी अटकलों को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि वह बीजेपी में नहीं जाएंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है