Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

आधा घंटा बरसा पानी और खुल गई आपदा प्रबंधन का पोल, DSP Office में तैर रही मछलियां

आधा घंटा बरसा पानी और खुल गई आपदा प्रबंधन का पोल, DSP Office में तैर रही मछलियां

- Advertisement -

ऊना। आपदा से निपटने के लिए बैठकें करना काफी नहीं होता इसके लिए धरातल पर प्रयास करने जरूरी होते हैं। बात करते हैं ऊना की तो यहां पर जलभराव की समस्या से निपटने के लिए बैठकों के दौर तो खूब चला लेकिन घरातल पर कुछ नहीं हुआ, मात्र आधे घंटे की बारिश के बाद सब पोल खुल गई। डीसी ऊना( DC Una) का आवास, सीजेएम आवास, एसपी ऑफिस, कोर्ट परिसर समेत कई कार्यालय( Office) बरसाती पानी की चपेट में आ गए है। वहीं डीएसपी ( DSP) के चैंबर में तो मछलियां भी पानी में तैरती नज़र आई।

एसपी ऑफिस में बाल्टियां -मग लेकर पानी निकालते रहे कर्मचारी

बुधवार सुबह ऊना में हुई मात्र आधे घंटे की बारिश( Rain) ने सरकारी विभागों और प्रशासन के जलभराव की समस्या से निपटने के बड़े-बड़े दावों की हवा निकाल दी। जिला मुख्यालय पर सरकारी कार्यालय( Govt office) समेत कई निजी भवनों में जलभराव की समस्या से लोग भारी मुसीबतों में जूझते नजर आए। हालात यहां तक बिगड़ गए कि फायर ब्रिगेड के जवानों को मौके पर पहुंचकर न्यायधीशों और अधिकारियों के घरों में घुसे पानी को बाहर निकालने के लिए मोर्चा संभालना पड़ गया। एसपी ऑफिस में भी जलभराव के चलते तमाम कर्मचारी हाथों में बाल्टियां और मग लिए पानी निकालते देखे गए।

कुछ ऐसा ही नजारा जिला मुख्यालय के कोर्ट परिसर में भी देखने को मिला जहां लगभग हर कमरे में बरसाती पानी ने घुसकर व्यापक स्तर पर तबाही मचाई है। डीएसपी कार्यालय में तो बरसात के पानी के साथ एक मछली तक पहुंच गई। जिन्हें काबू करने के लिए पुलिस के कर्मचारियों को खासी मशक्कत करनी पड़ी, बाद में मछली को बाहर ले जाकर खुले पानी में छोड़ दिया गया। इसके अलावा जिला मुख्यालय स्थित डीसी आवास और सीजेएम आवास में भी बरसाती पानी ने भारी तबाही मचाई है।

इन दोनों आवासीय परिसरों से फायर ब्रिगेड के जवानों ने पानी को बाहर निकाला। पुलिस और न्यायालय कर्मियों की माने तो हर साल हल्की से बारिश से ही जलभराव की समस्या से जूझना पड़ता है जिसका आज तक कोई समाधान नहीं हुआ।

कई विभागों के साथ चलाए थे लंबी बैठकों के दौर

बरसात के मौसम से पहले जिला प्रशासन ने कई विभागों के साथ लंबी बैठकों के कई दौर चलाए थे। जिनमें बरसाती पानी की निकासी को लेकर व्यापक स्तर पर प्लान तैयार करने के भी दावे किए गए। वहीं यह भी दावे किए गए कि आने वाली बरसात में जिला मुख्यालय के किसी भी भाग में बरसाती पानी के भरने की कोई समस्या नहीं रहेगी। लेकिन बुधवार को महज आधे घंटे की बारिश ने प्रशासनिक अधिकारी के दावों की कलाई खोल कर रख दी है।

खुद उनके अपने ही आवासों और कार्यालयों में बरसाती पानी ने घुसकर व्यापक स्तर पर तबाही मचाते हुए उनके तमाम प्रबंधों की पोल खोल डाली। नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी का कार्यभार देख रहे तहसीलदार ऊना विजय राय ने कहा कि पानी की निकासी के लिए सभी प्रबंध किये गए थे लेकिन अत्याधिक बारिश से यह समस्या पेश आई है जिसे शीघ्र ही सुधारा जायेगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है