Covid-19 Update

2,23,619
मामले (हिमाचल)
2,17,918
मरीज ठीक हुए
3,729
मौत
34,242,185
मामले (भारत)
246,029,018
मामले (दुनिया)

पितृ पक्ष में खरीददारी या नया कार्य शुरू करना शुभ होता है या अशुभ, पढ़े यहां

पूर्वजों के लिए श्राद्ध, तर्पण और दान पुण्य करना चाहिए

पितृ पक्ष में खरीददारी या नया कार्य शुरू करना शुभ होता है या अशुभ, पढ़े यहां

- Advertisement -

पितर का मतलब आपके पूर्वज और श्राद्ध का मतलब श्रद्धा। अपने पूर्वजों का श्रद्धापूर्वक सम्मान करना ही श्राद्ध होता है। ऐसा कहा जाता है कि मरणोपरांत भी आत्मा भटकती रहती है। उसी आत्मा को तृप्त करने के लिए तर्पण किया जाता है। श्राद्ध पक्ष शुरू हो चुका है। पितृ पक्ष के दौरान लोग अकसर ये कहते सुने जाते हैं कि इस समय में किसी तरह की नई चीज खरीदना अशुभ होता है। बहुत सारे लोग अपना कोई भी नया काम पितृ पक्ष के दौरान नहीं करते। जहां कर संभव हो उसे आगे टाल देते हैं। लेकिन शास्त्रों और ज्योतिष शास्त्र में इस बात का कोई जिक्र नहीं है कि पितृ पश्र में कोई भी नई चीज खरीदना अशुभ होता है। कुछ लोग ये भी मानते हैं कि इस समय में कोई चीज खरीदी जाती है वह पूर्वजों को समर्पित हो जाती है। या फिर ऐसा करने से पितर नाराज हो जाते हैं। इस समय में सिर्फ श्राद्ध कर्म करके उनकी सेवा करनी चाहिए। लेकिन यह बात भी सच है कि इन सब बातों का इन सभी चीजों को कोई आधार नहीं है।

यह भी पढ़ें:पितृ पक्ष के दिनों में जरूर करें इन नियमों का पालन, पूर्वज होंगे प्रसन्न

 

 

15 दिन तक चलने वाले पितृ पक्ष में विवाह, नींव पूजन, मुंडन, ग्रह प्रवेश आदि करना अशुभ बताया गया है। ज्योतिष के अनुसार अगर आपके यहां कोई नई वस्तु आती है तो पितर अपने बच्चों की तरक्की देखकर खुश होते हैं। इन दिनों में पूर्वजों के लिए श्राद्ध, तर्पण और दान पुण्य करना चाहिए।

पितृ पक्ष में किसी भी तरह के बुरे कार्य को करने से बचना चाहिए। इस समय में किसी के बारे में भी बुरा सोचना और बोलना नहीं चाहिए। इस समय में पितर हमारे घर पर आते है और पूर्वजों की तिथि पर पितरों का तर्पण करना चाहिए। ऐसा करने से पितरों का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

 

 

इस बार पितृ पक्ष में कई शुभ योग बन रहे हैं। ऐसे में आप मांगलिक कार्य छोड़कर कोई भी नई चीज की खरीदारी कर सकते हैं । इस मुहूर्त में आप कुछ भी खरीद सकते है। पितृ पक्ष में कई तरह के ऑफिर मिलते है, इसलिए मन में बिना किसी आशंका के खरीददारी करें। क्योंकि आपके पूर्वज नई चीजों को देखकर खुश होते हैं और श्राद्ध कर्म का काम पूरा हो जाता है। आपकी खुशी से पूर्वज भी खुश होते हैं और आपको जाते समय भी सुख- समृद्धि और ऐश्वर्य का आशीर्वाद देते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है