Covid-19 Update

2,63,113
मामले (हिमाचल)
2,45, 890
मरीज ठीक हुए
3936*
मौत
40,085,116
मामले (भारत)
359,251,319
मामले (दुनिया)

ये है कांग्रेस विधायकों का गठजोड़, किसके पाले में कितने-देखें Video स्टोरी

उपचुनाव में 21 से बढ़कर 22 हो चुकी है कांग्रेसी विधायकों की संख्या

ये है कांग्रेस विधायकों का गठजोड़, किसके पाले में कितने-देखें Video स्टोरी

- Advertisement -

आपने दबंग फिल्म देखी होगी तो आपको फिल्म के हीरो सलमान खान को वो डायलॉग याद होना चाहिए, मोटे वाले इस तरफ, पतले वाले इस तरफ, फिट वाले मेरे पीछे,लेकिन जब सलमान पीछे मुडकर देखते हैं तो पीछे कोई नजर ही नहीं आता है। ये डायलॉग हिमाचल में कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर पर फिट बैठता है, सब दाएं-बाएं हैं, पीछे तो कोई है ही नहीं।अकेले ही चले हुए हैं साहब! चलो ये विषय हमारा नहीं है, उनकी वो ही जाने,हमें तो इस पोलिटिकल तपसरे की भूमिका बांधनी थी, इसलिए हमने शुरुआत कुछ ऐसी की। अब पते की बात पर आते हैं,उपचुनाव में मिली जीत के बाद कांग्रेसी (Congress) उत्साहित हो गए तो धड़ों में बंट गए, ये किस्सा हमने आपको बीते कल भी सुनाया था। आज इसे कड़ीबद्ध करते हुए आपको ये बताने की कोशिश करेंगे कि कांग्रेसी विधायकों में कौन किसके साथ खड़ा दिख रहा है। सीधी-सीधी लकीर पटी हुई है।

यह भी पढ़ें-हिमाचल का एक ऐसा राजनीतिक परिवार जिसने दिए चार विधायक, दो प्रदेशाध्यक्ष

उपचुनाव के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या 21 से बढ़कर 22 हो गई है। कोटखाई कांग्रेस ने बीजेपी से छीन ली है। अर्की व फतेहपुर पहले भी कांग्रेस की थी, उपचुनाव (By-Election) में भी बरकरार रही हैं। चलों अब आपको बताते हैं कि इन 22 विधायकों में से इस वक्त पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu) नौ विधायकों को अपने साथ लेकर चल रहे हैं। खुद को मिलाकर सुक्खू के पाले में दस विधायक हैं,यानी सुक्खू नंबर वन पर हैं।

सुक्खू के साथ खड़े विधायकों में सुजानपुर से राजेंद्र राणा, कांगड़ा से पवन काजल, कुल्लू से सुंदर ठाकुर,उना से सतपाल रायजादा, अर्की से संजय अवस्थी, नालागढ़ से लखविंदर राणा,कुसुम्पटी से अनिरुद्ध सिंह, कोटखाई से रोहित ठाकुर व किन्नौर से जगत सिंह नेगी शामिल हैं। अब दूसरे नंबर पर इसके बाद नेता प्रतिपक्ष (Mukesh Agnihotri) मुकेश अग्निहोत्री हैं जिनके पाले में उन्हें खुद को मिलाकर पांच विधायक हैं। इनमें डलहौजी से (Asha Kumari) आशा कुमारी, पालमपुर से आशीष बुटेल, श्री रेणुका जी से विनय कुमार,फतेहपुर से भवानी पठानिया शामिल हैं।

यह भी पढ़ें-हिमाचल कैबिनेट: प्रदेश में नहीं लगाई कोई बंदिशें, क्लास 3 भर्ती में किया बड़ा बदलाव

इसके बाद तीसरे नंबर पर शिमला ग्रामीण से विक्रमादित्य सिंह आते हैं, जिनके खाते में तीन विधायक गिने जा रहे हैं, उन्हें खुद को मिलाकर ये संख्या चार हो जाती है। विक्रमादित्य सिंह के पाले में आने वालों में रामपुर से नंदलाल, रोहडू से मोहन लाल ब्राक्टा व बड़सर से इंद्रदत्त लखनपाल गिने जाते हैं। इस तरह ये संख्या 19 हो जाती है। जबकि तीन विधायक ऐसे हैं जो अकेले ही चले हुए हैं, इनमें श्री नयना देवी से (Ram LaL Thakur) रामलाल ठाकुर, सोलन से कर्नल धनीराम शांडिल व शिलाई से हर्षवर्धन चौहान के नाम आते हैं। इनमें भी कर्नल धनीराम शांडिल अंदर खाते सुखविंदर सिंह सुक्खू के साथ बताए जा रहे हैं, जबकि हर्षवर्धन चौहान का झुकाव भी सुक्खू के प्रति हो सकता है। कहा तो ये भी जा रहा है कि बड़सर से इंद्रदत्त लखनपाल भी सुक्खू की तरफ गलबहियां डाल रहे हैं। अब एक परेड तो पिछले दिनों दिल्ली में हो चुकी है, दूसरी होते-होते हो सकता है ये तीन विधायक भी ओपन होकर आ जाए। इसमें देखने वाली बात तो ये है कि इन सबमें सुखविंदर सिंह सुक्खू पहले नंबर पर उभरकर सामने आए हैं, जो अपने साथ विधायकों का सबसे बड़ा नंबर जोड़ने में सफल हो पाए हैं।

मुकेश अग्निहोत्री के साथ एक दिक्कत इस बात की है कि उनके साथ आशा कुमारी जुड़ी हुई हैं, वो स्वयं (CM) सीएम पद की कैंडिडेट हैं। लेकिन सुक्खू के साथ इस तरह की कोई दिक्कत नहीं है, वह अकेले ही अपनी टीम में सीएम पद के कैंडिडेट हैं। रही बात विक्रमादित्य सिंह की तो उनके साथ जो तीन (MLA) विधायक हैं, वो दिवंगत वीरभद्र सिंह के वक्त से साथ हैं। उनमें रामपुर (Rampur) से नंदलाल व रोहडू से मोहन लाल ब्राक्टा को वीरभद्र सिंह का नाम साथ जोडकर रखना चुनावी मजबूरी हो सकती है। चूंकि दोनों के क्षेत्र में राजा परिवार का नाम चलता है। ऐसे में बड़सर से इंद्रदत लखनपाल के साथ ऐसी कोई मजबूरी नहीं दिख रही है। तो ये कांग्रेस के विधायकों की स्थिति है। यानी अगली परेड में सुक्खू खुद को जोडकर ये संख्या दस से 13 ना कर लें, इसमें कोई संशय नहीं दिख रहा है। लेकिन इस सबके बीच (Congress President) कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कहां है, कोई देख ही नहीं रहा। हमने जो दबंग फिल्म का डायलॉग आपको सुनाया था,वो ही इस सारी (Political Story) पॉलिटिकल कहानी का सार है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है