Covid-19 Update

3,08, 133
मामले (हिमाचल)
301, 551
मरीज ठीक हुए
4166
मौत
44,277,194
मामले (भारत)
596,321,667
मामले (दुनिया)

हिमाचल: प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का अधिकारी 35 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ धरा

निजी अस्पताल के सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट को सहमति पत्र जारी करने की एवज में मांगे थे पैसे

हिमाचल: प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का अधिकारी 35 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ धरा

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ( Himachal Pradesh Pollution Control Board) केंद्रीय प्रयोगशाला परवाणू के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर तेज बहादुर सिंह को विजिलेंस ने 35 हजार रुपए रिश्वत (Bribe) लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। इस अधिकारी ने निजी अस्पताल में स्थापित किए गए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के संबंध में सहमति पत्र जारी करने की एवज में रिश्वत मांगी थी। यह कार्रवाई हिमाचल प्रदेश स्टेट विजिलेंस एंड एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने की है। डीएसपी अनिल मेहता की अगुवाई में विजिलेंस टीम ने जिला मुख्यालय ऊना (Una) के नजदीक एक निजी अस्पताल (Private Hospital) में इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: 16 हजार की रिश्वत लेती महिला पंचायत सचिव गिरफ्तार, विजिलेंस ने की कार्रवाई

विजिलेंस की टीम ने निजी अस्पताल में स्थापित किए गए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (Sewerage Treatment Plant) के संबंध में सहमति पत्र जारी करने की एवज में रिश्वत की मांग कर रहे प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर तेज बहादुर सिंह को रिश्वत की 35 हजार रुपए की राशि के साथ रंगे हाथों दबोचा। विजिलेंस को दी शिकायत (Complaint) में निजी अस्पताल के संचालक ने बताया कि उन्होंने अपने अस्पताल में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित किया था और इसको प्रमाणित करने के लिए प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड से सहमति पत्र की आवश्यकता थी। जिसके लिए सोलन जिला के परवाणु स्थित प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के सेंट्रल लैब के चीफ साइंटिफिक ऑफिसर तेज बहादुर सिंह ने 35 हज़ार रुपये की मांग की।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: विदेश भेजने के नाम पर की थी ठगी, तीन आरोपियों को तीन-तीन साल की मिली सजा

चिकित्सक ने इस संबंध में स्टेट विजिलेंस एंड एंटी करप्शन ब्यूरो की ऊना यूनिट में शिकायत दर्ज कराई। विजिलेंस ने घटना के संबंध में केस दर्ज करते हुए अधिकारी को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। वहीं, गुरुवार शाम आरोपी डॉक्टर तेज बहादुर सिंह को शिकायतकर्ता चिकित्सक से रिश्वत की राशि देते हुए रंगे हाथों धर दबोचा। डीएसपी विजिलेंस अनिल मेहता ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि विजिलेंस ने आरोपी अधिकारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत केस दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। आरोपी को शुक्रवार अदालत में पेश किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है