हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022

BJP

25

INC

40

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

रैली के लिए 1573 सरकारी बसें लगाना, मतलब उद्घाटनों की आड़ में राजनीति चमकाना

जरूरी काम के लिए सफर करने वाले लोग सड़कों पर मजबूरन हो रहे हैं परेशान

रैली के लिए 1573 सरकारी बसें लगाना, मतलब उद्घाटनों की आड़ में राजनीति चमकाना

- Advertisement -

हमीरपुर। हिमाचल (Himachal) में चुनाव दहलीज पर हैं। जाहिर है कि हर राजनीतिक दल जीत के लिए जोर-आजमाइश कर रहा है। इसके लिए चुनावी रैलियां (Election Rallies) की जा रही हैं। प्रदेश में वीआईपी (VIP) का आना लगातार हो रहा है। हालांकि इनके आने पर बात सौगातें देने और उद्घाटनों की हो रही है मगर सब जानते हैं कि इन सब की आड़ में अपने चुनावी मकसद को ही भुनाना (Exploiting the Electoral Motive) है। जाहिर है कि इसमें करोड़ों का खर्च हो रहा है। सरकारी अमले का प्रयोग किया जा रहा है। सवाल अब यह है कि इससे क्या जनता परेशान नहीं हो रही है। दूसरा सवाल यह है कि इन उद्घाटनों और घोषणाओं की झड़ी लगाने का वक्त ऐन चुनाव के समय ही क्यों होता है। क्या इससे पहले पांच साल की अवधि में इसके समय नहीं मिल पाता। ऐसे में जनता भी समझती है कि आखिर कोई मकसद तो है जो इतनी मेहरबानी है और दिग्गज नेता जो कभी बात तक नहीं पूछते वे विनम्र होकर रैलियों में शामिल होने के लिए अपील कर रहे हैं। कई बार एक सीरियस मरीज को गंभीर बीमारी के चलते एंबुलेंस की व्यवस्था (Ambulance Service) तक नहीं हो पाती और रैलियों के लिए जरूरी रूटों को कैंसल कर 1571 सरकारी बसों को लगाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- RSS का जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने पर जोर, भागवत बोले-किसी को छूट नहीं मिले

पीए नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की रैलियों के लिए एचआरटीसी बसों (HRTC Buses) को बेड़े को चुनावी रैलियों में महज इसलिए लगाया जा रहा है कि भीड़ को एकत्रित किया जा सके और आने वाले बड़े नेता को यह दिखाया जा सके कि देखो आपके समर्थन में कितनी जनता है। तुर्रा तो यह है कि कई बसों में महज दस या पंद्रह लोग ही जा रहे हैं। जिन रूटों से इन बसों को हटाया जा रहा है उन रूटों पर सफर करने वाले लोग परेशान हो रहे हैं। कई गरीब तबका तो ऐसा होता है कि उनके पास टैक्सी करने के लिए पैसे नहीं होते हैं और उनको बहुत जरूरी काम से सफर करना पड़ता है। मगर जब ऐन वक्त पर उन्हें बस की सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती तो हताश होने के सिवाय उनके पास कोई चारा नहीं होता। अब पीएम नरेंद्र मोदी के ही दौरे की बात करें तो रैली के लिए 1573 बसें बुक (1573 Buses Booked) की गई हैं। जाहिर है कि ये बसें महत्वपूर्ण रूटों से हटाई गई होंगी। अब इन बसों के बुक होने पर सेवाएं प्रभावित होंगी और लोग परेशान होंगे। बताया जा रहा है कि इसके लिए हमीरपुर डिवीजन से 120, धर्मशाला डिवीजन से 325 और शिमला डिवीजन से 408 बसें बुक की गई हैं। इस संबंध में डीसी बिलासपुर पंकज राय (DC Bilaspur Pankaj Rai) ने बताया कि पीएम मोदी की रैली के लिए बिलासपुर में आने वाली बसों की पार्किंग व्यवस्था कर दी गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है