Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

82 वर्षीय मां से ही कर गया 420 C-बैंक पहुंची बुजुर्ग तो उड़ गए होश

पुलिस के पास सौंपी शिकायत में 14 लाख हड़पने का आरोप

82 वर्षीय मां से ही कर गया 420 C-बैंक पहुंची बुजुर्ग तो उड़ गए होश

- Advertisement -

ऊना। कोरोना काल में बहुत सारे लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं, कुछ लोग ऐसे भी ही हैं जो इस दौर में लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। ऊना में एक बेटे द्वारा अपनी बुजुर्ग मां से 14 लाख रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। पुलिस चौकी ऊना ( Police station una) के तहत विवेक नगर की रहने वाली 82 वर्षीय वृद्धा ने अपने बेटे पर धोखाधड़ी ( fraud) से 14 लाख रुपये हड़पने का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि बेटे ने उसके अलग-अलग बैंक अकाऊंट से पैसे निकाले और उसके बारे में उन्हें कोई सूचना नहीं दी गई। पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें :- Breaking: हिमाचल में कोरोना मरीजों के साथ कंसलटेंट रहेंगे-सरकार ने 15 Doctors की बनाई कमेटी  

पुलिस को दी शिकायत में कांता निवासी विवेक नगर ऊना ने बताया कि उनके बेटे रमन कुमार ने बिना उन्हें बताए एचडीएफसी बैंक से 2.93 लाख, कोऑपरेटिव बैंक बदोली से 6.15 लाख रुपये निकाल लिए। इसके अलावा और भी लाखों रुपए बेटे ने उनसी ली है। शिकायत में महिला ने बताया कि ये सारे पैसे बिना उनके हस्ताक्षर के निकलवाए गए हैं। कांता देवी ने कहा कि इतनी राशि निकालने का पता उन्हें तब लगा, जब वह पैसे निकलवाने के लिए बैंक पहुंची। मामले की पुष्टि एएसपी ऊना विनोद कुमार धीमान ने बताया कि पुलिस मामले को लेकर जांच कर रही है। वहीं बेटे से भी पूछताछ की जा रही है।


 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है