Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

दुनिया भर में अपनी भव्यता, ऊंचाई और खूबसूरती के लिए जानी जाती हैं यह 6 Buildings

इन इमारतों को उनकी खासियतों के लिए गिनीज बुक में दिया गया है स्थान

दुनिया भर में अपनी भव्यता, ऊंचाई और खूबसूरती के लिए जानी जाती हैं यह 6 Buildings

- Advertisement -

आपने बहुत सी इमारतें देखी होंगी कुछ बहुत सुंदर तो कुछ साधारण। इमारतें बनती रहती हैं पर दोस्तों कुछ इमारतें ऐसी होती हैं जो खासतौर पर अपनी भव्यता, खास डिज़ाइन या फिर सुंदरता के लिए जानी जाती हैं। और इसी खास इमारतों को उनकी इन खासियतों के लिए गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्डस में भी विशेष स्थान दिया जाता है। आज हम आपको ऐसी ही विश्व की सबसे प्रसिद्ध इमारतों के बारे में बताने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं कौन सी और कहां पर हैं यह खास इमारतें।


  • बुर्ज खलीफाः बुर्ज खलीफा दुबई में है जोकि अरब डॉलर की लागत से बनाया गया है, बात करें इसकी लंबाई की तो यह एफिल टावर से तीन गुना ज्यादा ऊंचा है। इसकी ऊंचाई 2716 फीट है। 12 हज़ार मजदूरों ने इसे 6 वर्ष में बनाकर तैयार किया था। बुर्ज खलीफा का लोकार्पण 2010 में किया गया था। 163 मंजिला इमारत में सबसे तेज स्पीड वाली लिफ्ट है और ऐसा कहा जाता है कि इस इमारत को 96 किलोमीटर तक साफ देखा जा सकता है।


  • कैपिटल गेटः 2010 में गिनीज बुक ने अबूधाबी के कैपिटल गेट को मानव द्वारा निर्मित दुनिया की सबसे टेढ़ी इमारत माना था। इसका खास डिजाइन तैयार किया गया था ताकि इसे 18 डिग्री के एंगल पर झुकी हुई बनाया जा सके। कैपिटल गेट की इस बिल्डिंग की लंबाई 525 फीट है इसमें पांच सितारा होटल के साथ साथ प्रीमियम ऑफिस भी हैं।

  • पैलेस ऑफ पार्लियामेंटः 100 कमरों की यह भव्य इमारत रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट में स्थित है। इसे दुनिया की सबसे भारी और फैली हुई इमारत माना जाता है। इसका निर्मण कार्यवर्ष 1984 से 1997 तक चला यानि की इसे बनाने में कुल 13 साल लगे थे। यही नहीं इसे बनाने के लिए सात लाख टन स्टील और तांबे, 10 लाख घनमीटर मार्बल, 3,500 टन के क्रिस्टल ग्लास का इस्तेमाल हुआ है।

  • हॉरयू जी टेंपलः बात करें हॉरयू जी टेंपल की तो यह जापान में स्थित है और यह लकड़ी से बना हुआ है। जानकारी के मुताबिक इसे बने हुए करीब 607 वर्ष हो गए हैं। इसे बौद्ध धर्म के अनुयायियों के सबसे पुराने मंदिर में से एक माना जाता है। दुनिया की इस सबसे पुरानी इमारत को यूनेस्को ने विश्व धरोहर के तौर पर घोषित किया हुआ है। इसके बारे में एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे पांच मंजिला मंदिर को गोजियोनोतो भी कहा जाता है।

  • ग्रैंड मॉस्कः माली में स्थित ग्रैंड मॉस्क मिट्टी से बनी दुनिया की सबसे बड़ी इमारत है। बात करें इस इमारत की लंबाई कि तो यह 328 फीट लंबी और 131 फीट चौड़ी है। इसे 1905 में 11वीं सदी की मस्जिद के आधार पर बनाया गया था। इसे 1988 में यूनेस्को ने विश्व धरोहर के तौर पर नामित किया था। मिट्टी से बनी यह भव्य इमारत देखने में भी बेहद आकर्षक है।

  • रयुगयोंग होटलः उत्तर कोरिया के प्योंगयांग स्थित रयुगयोंग होटल ऐसी सबसे लंबी इमारत है जहां कोई आता- जाता नहीं है। जब दक्षिण और उत्तर कोरिया के बीच होने वाले संयुक्त ओलंपिक गेम्स हुए थे तो इसे ओलंपिक गेम्स के लिए होटल के लिए होटल के तौर पर बनाया गया था। लेकिन जब गेम्स दक्षिण कोरिया चले गए तो यह इमारत खाली पड़ गई। और यहां कोई आता-जाता नहीं है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है